Sukhi Khansi ke Gharelu Upay

ये 9 चमत्कारी उपाय सूखी खांसी को करेंगे जड़ से खत्म | Sukhi Khansi ke Gharelu Upay

Spread the love

ये 9 चमत्कारी उपाय सूखी खांसी को करेंगे जड़ से खत्म Sukhi Khansi ke Gharelu Upay

इस विषय में मुझे काफी जानकारी है क्यूंकि मैंने इस दुःख को स्वयं भोगा है। जब हम खांसते हैं तब यदि कोई बलगम या थूक बाहर न आये तो उसे सूखी खांसी कहते हैं। ये ज्यादातर एलर्जी के कारण होती है या लम्बे समय तक बीमार रहने के कारण।

जब हम लेटते हैं तो खांसी ज्यादा आती है और जब बैठते हैं तो ये ठीक हो जाती है, इसका ये भी एक मुख्य लक्षण होता है। कई बार ये बहुत जोर लगाकर भी आती है जिससे पेशाब भी बीच में निकल जाता है क्यूंकि हमें लगता है कि शायद कुछ बलगम या गंदा पदार्थ बाहर निकलेगा।

वैसे तो खांसी होना आम बात है लेकिन जब ये लम्बे समय तक होती रहे और ठीक न हो तो परेशानी का कारण हो जाता है। इससे गले के संक्रमण के साथ फेफड़ों और किडनी की समस्या भी हो जाती है। साथ ही यह दिल की सेहत के लिए ठीक नहीं है।

यदि आप भी सूखी खांसी से परेशान हैं तो ये चमत्कारी उपाय जो मैंने प्रयोग किये थे वही आपको बताने जा रहा हूँ, लेकिन उससे पहले जान लेते हैं कि इसके कारण क्या हैं?

दाद को जड़ से खत्म करें ये आसान नुस्खे

सूखी खांसी होने के कारण

खांसी सूखी हो या बलगम वाली कफ के बढ़ने के कारण ही होती है। लेकिन इसके और भी बहुत से कारण हो सकते हैं, आइये जानते हैं –

1अधिक धूम्रपान या शराब का सेवन करना
2टीबी या दमा से ग्रस्त होना
3धूल-मिटटी से एलर्जी होने के कारण
4जो लोग lead से सम्बन्धित काम करते हैं, उन्हें भी इसका खतरा अधिक रहता है
5मौसम बदलने से होने वाले फ्लू के कारण
6गले में संक्रमण होने की वजह से भी सूखी खांसी होती है
7लम्बे समय तक बुखार रहने के कारण
8फेफड़ों में कफ जमने के कारण
9स्नोफीलिया का ब्लड में बढ़ जाना

9 उपाय जो सूखी खाँसी को जड़ से खत्म करेंगे | Sukhi Khansi ke Gharelu Upay

मैं आपको ऐसे प्रभावशाली नुस्खे बताने जा रहा हूँ जिनके प्रयोग से शत-प्रतिशत आपकी खांसी दूर हो जायेगी। आइये जानते हैं वे नुस्खे –

1. मुलहठी –

मुलहठी, काला कत्था और गोंद बबूल प्रत्येक 10 ग्राम लेकर कूट-पीसकर कपड़े से छान लें। अदरक के रस में 2-3 घंटे घोंटकर चने के बराबर की गोलियां बना लें और 1-1 गोली चूसते रहें। सूखी खांसी में अत्यंत लाभदायक है।

2. काली मिर्च –

10-15 तुलसी के पत्ते और 8-10 काली मिर्च की चाय बनाकर पीने से खांसी, जुकाम व बुखार भी ठीक हो जाता है। तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो शरीर को संक्रमण से बचाते हैं।

3. आंवले का छिलका –

आंवले के छिलके को सुखाकर चूर्ण बना लें और बराबर मात्रा में मिश्री मिला लें। 6 ग्राम सुबह ताजे पानी से खाएं। पुरानी से पुरानी खांसी भी ठीक हो जायेगी।

4. अदरक का रस –

अदरक का रस व शहद 10-10 ग्राम बराबर मिलाकर गर्म करके चाटने से खांसी ठीक हो जाती है। गले में खुश्की के कारण ही सूखी खांसी होती है। इसे चाटने से ये गले को नमी प्रदान करता है और इससे इम्युनिटी भी बढ़ती है।

5. अनार का छिलका –

मीठे अनार का छिलका 20 ग्राम, नमक लाहौरी 3 ग्राम बारीक करके पानी में मिलाकर 1-1 ग्राम की गोलिया बनाएं। दिन में 2-2 गोली चूसें। खटाई का परहेज करें। 6 ग्राम अनार का छिलका थोड़े दूध में उबालकर पीने से काली खांसी में भी आराम मिलता है।

6. मुनक्का –

बादाम की गिरी, मुलहठी, बीज निकला मुनक्का, सब 10-10 ग्राम बारीक करके चने के बराबर गोलियां बनाएं। 2-2 गोली मुंह में डालकर दिन में 4 बार चूसें। सूखी खांसी छूमंतर हो जायेगी।

7. केले का छिलका –

केले के छिलके को छाँव में सुखा लें या सूखा हुआ पंसारी से ले लें। उसे तवे पर गर्म करके बारीक पीस लें। शहद के साथ 1 चम्मच सुबह-शाम लेने से पुरानी से पुरानी खांसी ठीक हो जायेगी।

8. हल्दी और अदरक –

आपको 1 इंच अदरक के टुकड़े को पैन में फ्राई करना है, जब वह हाफ फ्राई हो जाए तो उसमें थोड़ी-सी हल्दी डालनी है और कुछ देर बाद गैस बंद कर देनी है।

अब जब भी आपको खांसी हो तो उसी अदरक को मुंह में रखकर चबाना है। आपकी अदरक खत्म होने से पहले खांसी रुक जायगी। चरक संहिता में दिया ये नुस्खा 100% कारगर है।

नोट – अदरक को सिर्फ चबाएं, भीतर न लेकर जाएँ।

9. योगासन –

मैं आपको 2 ऐसे योगासन बताने जा रहा हूँ जिन्हें करने से मेरी खांसी जड़ से खत्म हो गयी थी।

  • सर्वांगासन
  • भुजंगासन

ये दोनों आसन आपके कंठ चक्र की अच्छे से मसाज करते हैं और साथ ही इससे respiratory system भी मजबूत होता है। जितना मजबूत respiratory system होगा, हमें खांसी की समस्या नहीं होगी।

निष्कर्ष –

ऊपर बताये गए सभी नुस्खे (Sukhi Khansi ke Gharelu Upay) पूर्णतया सुरक्षित हैं, इनका कोई भी साइड-इफ़ेक्ट नहीं है लेकिन फिर भी आपको यदि किसी पदार्थ से एलर्जी है तो उसे प्रयोग न करें। अगर आपने इनमें से पहले कोई नुस्खा प्रयोग किया है तो अपना एक्सपीरियंस कमेंट बॉक्स में जरूर शेयर करें। धन्यवाद।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न- सूखी खांसी में खाने में क्या परहेज करना चाहिए?

उत्तर- सूखी खांसी में जंक फ़ूड, तला हुआ भोजन, कफ बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ और शराब तथा धूम्रपान से परहेज करना चाहिए।

प्रश्न- सूखी खांसी में कौनसा सिरप सबसे अच्छा है?

उत्तर- देखिये बच्चों को तो घरेलू नुस्खे जैसे मुलहठी, शहद या अदरक आदि के नुस्खे बनाकर ही देने चाहिए और यदि सिरप देना ही है तो कोई आयुर्वेदिक सिरप ही दें जैसे पतंजलि का दिव्या शवसरि प्रवाही उत्तम है।

इन्हें भी पढ़ें –

जानिए बारिश के मौसम में कैसे रखें अपना खान-पान

बच्चों का तुतलाना और हकलाना दूर करते हैं ये आसान नुस्खे

13 प्रभावशाली उपाय जो दांत के दर्द से दिलाएंगे राहत


Spread the love

2 thoughts on “ये 9 चमत्कारी उपाय सूखी खांसी को करेंगे जड़ से खत्म | Sukhi Khansi ke Gharelu Upay”

  1. Pingback: बारिश के मौसम में क्या खाएं और क्या न खाएं | Monsoon me kya khaye or kya na khaye - घरेलू नुस्खे - चरक संहिता

  2. Pingback: Constipation: पेट साफ़ करने के 9 घरेलू उपाय, कब्ज़ के कारण और लक्षण | Pet Saaf Kaise Kare - घरेलू नुस्खे - चरक संहिता

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *