Sunday, October 2, 2022
Body Healthसाइटिका के दर्द से राहत पाने के लिए चमत्कारी घरेलू उपाय |...

साइटिका के दर्द से राहत पाने के लिए चमत्कारी घरेलू उपाय | Sciatica Pain Home Remedy in Hindi

- Advertisement -

साइटिका के दर्द से राहत पाने के लिए चमत्कारी घरेलू उपाय Sciatica Pain Home Remedy in Hindi

साइटिका को आयुर्वेद में कटिशूल नाम से भी जाना जाता है। साइटिका नर्व रीढ़ की हड्डी से होते हुए कूल्हे से होते हुए पैरों के पंजे तक जाती है। इसलिए इसमें जो दर्द होता है वो कमर से पैरों तक जाता है। ये सबसे लम्भी नस भी होती है और ये आपके पैरों को भी नियंत्रित करती है।

कटिशूल सबसे अधिक तब होता है रीढ़ की हड्डी का सिकुड़ना तंत्रिका के हिस्से को संकुचित कर देता है। इस कारण पैरों में सूजन और सुन्नता हो जाती है। वैसे तो कुछ मामलों में ये बहुत ही गंभीर दर्द हो सकता है लेकिन ज्यादातर cases में बिना ऑपरेशन के घरेलू उपायों (Sciatica Pain Home Remedy in Hindi) और योग-व्यायाम के द्वारा इसका उपचार किया जा सकता है।

साइटिका बीमारी के लक्षण

साइटिका के लक्षणों में आप निम्नलिखित शारीरिक बदलाव महसूस कर सकते हैं जैसे –

स. लक्षण
1 कमर के निचले हिस्से में हल्का और कई बार तेज दर्द होना और ये दर्द नीचे पाँव तक जाना
2 पैर और टांगों का सुन्न हो जाना
3 कूल्हों में भी दर्द होना
4 बैठते समय पैर के पिछले हिस्से में तेज दर्द होना
5 कई बार ऐसा दर्द महसूस होता है जैसे बिजली का झटका लगा हो
6 प्रभावित पैर में कमजोरी महसूस होना
7 पेशाब पर नियंत्रण रखने में सक्षम न होना

साइटिका पेन क्यों होता है?

साइटिका हर व्यक्ति में अलग-अलग चिकित्सा स्थतियों के कारण हो सकता है जिनमें शामिल हैं –

  • तंत्रिकाओं में सूखापन आ जाना
  • रीढ़ की हड्डी का खिसक जाना
  • spondylolisthesis के कारण
  • Cauda Equina Syndrome एक ऐसी स्थिति है जो रीढ़ की हड्डी के अंत में नसों को प्रभावित करती है
  • ट्यूमर के कारण

साइटिका का इलाज इन हिंदी (Sciatica Pain Home Remedy in Hindi)/

साइटिका के इलाज में तेल की मालिश का बहुत ही महत्वपूर्ण रोल है। इसके अलावा अन्य कई नुस्खे हैं जो साइटिका के दर्द को ठीक करने में लाभकारी हैं। आइये जानते हैं –

तिल के तेल की मालिश करें

तिल का तेल वातशामक है क्यूंकि वात वृद्धि भी एक कारण साइटिका के दर्द तो इसलिए आपको तिल के तेल की मालिश हल्के हाथों से करनी चाहिए। इससे साइटिका के दर्द में काफी राहत मिलेगी।

सिकाई से करें साइटिका का इलाज

नमक को कढ़ाई में गर्म करने के बाद सूती कपड़े में बांधकर पोटली बना लें। फिर इस पोटली से अपनी कमर, कूल्हे, टांग और पैरों तक सिकाई करें। इससे साइटिका नस खुलेगी और आराम मिलेगा।

मेथी दाने और हल्दी से करें साइटिका का इलाज

हल्दी में दर्द निवारक गुण होते हैं और मेथी एवं दालचीनी बंद नसों को खोलने में काफी उपयोगी है। इसलिए आपको 1 चम्मच मेथी दाने लेने हैं, 2-2 इंच के हल्दी और दालचीनी के टुकड़े लें। इन तीनों को कूटकर चूर्ण कर लें और 1 कप पानी में मिलाकर उबाल लें। जब पानी आधा कप रह जाए तो इसमें शहद मिलाकर पीयें। साइटिका के दर्द में काफी आराम मिलेगा।

अरंडी की जड़ और अश्वगंधा – साइटिका के लिए आयुर्वेदिक औषधि

अश्वगंधा की जड़, निर्गुन्डी बूटी और अरंडी की जड़ – प्रत्येक 100 ग्राम – इन तीनों को अच्छे से कूटकर पाउडर बना लें। इस चूर्ण को 1 चम्मच सुबह-शाम खाना खाने के बाद गुनगुने दूध के साथ सेवन करने से साइटिका की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है।

बर्फ की ठंडी सिकाई

दर्द और सूजन को कम करने के लिए आपको बर्फ की सिकाई का प्रयोग करना चाहिए। इसके लिए पॉलिथीन में बर्फ की टुकड़ी डालें और रीढ़ की हड्डी से लेकर कूल्हों से टांग तक सिकाई करें। इससे नस खुलेगी और दर्द में काफी आराम मिलेगा।

साइटिका के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट

अब जानिए साइटिका के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट –

साइटिका के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट

साइटिका पेन की एक्सरसाइज

साइटिका पेन के लिए कुछ योगासन और व्यायाम काफी कारगर हैं। आइये जानते हैं –

  • भुजंगासन का अभ्यास करें
  • दीवार का सहारा लेकर पंजों की मदद से ऊपर की ओर उठें
  • स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें
  • मर्कटासन भी बहुत बढ़िया आसन है साइटिका पेन को ठीक करने में

नोट – उपर्युक्त जितने भी आसन और व्यायाम बताये हैं, वे सब किसी योग शिक्षक की देख-रेख में ही करें अन्यथा फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है।

साइटिका में क्या खाना चाहिए?

साइटिका एक वात संबंधी रोग है जिसके लिए आपको वातनाशक भोजन करना चाहिए जैसे कि –

  • दूध, पनीर का सेवन करें
  • अलसी के बीज, मूंगफली और नट्स का सेवन करना चाहिए
  • गाजर, हरी पत्तेदार सब्जियां अवश्य खाएं
  • अवोकेडो, केला में पोटैशियम होता है जो नसों के दर्द को ठीक करने में फायदेमंद है
  • मांसाहार लोग मछली का सेवन जरूर करें
  • पुदीने की चटनी खाने में जरूर शामिल करें
  • पानी खूब पीएं

साइटिका में क्या नहीं खाना चाहिए?

जानिये नसों से संबंधित दर्द में क्या नहीं खाना चाहिए –

  • किसी भी प्रकार का प्रोसेस्ड फ़ूड खाने से बचें
  • जंक फ़ूड का सेवन न करें
  • शराब, चाय और कॉफ़ी का सेवन न करें या बहुत कम करें
  • तला-भुना भोजन न करें

निष्कर्ष

साइटिका के डॉ में योग और घरेलू उपाय (Sciatica Pain Home Remedy in Hindi) काफी हद तक कारगर साबित होते हैं। इसके अलावा कुछ मेडिसिन्स भी हैं जिन्हे आप अपने चिकित्सक की सलाह से ले सकते हैं। बस ध्यान इतना दें कि एक स्थान पर ज्यादा देर न बैठें और मोबाइल में कम से कम समय बिताएं।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – पतंजलि में साइटिका की दवा क्या है?

उत्तर – चंद्रप्रभावटी दर्द को दूर करती है, त्रयोदशांक गुग्गुल और अश्वशिला नसों को ताकत पहुंचाती हैं और नसों को खोलती भी हैं।

प्रश्न – साइटिका की अंग्रेजी दवा कौनसी है?

उत्तर – वैसे तो अंग्रेजी दवा चिकित्सक की सलाह से ही लेनी चाहिए, लेकिन असुविधा और थोड़ी देर के लिए दर्द को दबाने के लिए आप cyclobenzaprine ले सकते हैं।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article