Tuesday, October 4, 2022
Body HealthConstipation: पेट साफ़ करने के 9 घरेलू उपाय, कब्ज़ के कारण और...

Constipation: पेट साफ़ करने के 9 घरेलू उपाय, कब्ज़ के कारण और लक्षण | Pet Saaf Kaise Kare

- Advertisement -

Constipation: पेट साफ़ करने के 9 घरेलू उपाय, कब्ज़ के कारण और लक्षण Pet Saaf Kaise Kare

क्या आपका भी पेट सुबह सही ढंग से साफ़ नहीं होता? क्या भोजन के उपरान्त पेट में गैस बनती है? यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो इसका मतलब आपकी जठराग्नि मंद पड़ गयी है मायने अमाशय में अग्नि अच्छे ढंग से प्रदीप्त नहीं हो रही। पेट के अच्छे से साफ़ न होने से या कब्ज़ होने से सारा दिन व्यक्ति परेशान रहता। उसका न काम में मन लगता है और न ही आराम में। चेहरे पर उदासी, थकान और सुस्ती साफ़ झलकती है। इसलिए तो कहते हैं पेट खुश तो व्यक्ति खुश।

पेट की सफाई न होने से कई अन्य बीमारियां भी आक्रमण करने लगती हैं क्यूंकि इसके कारण हमारा पाचन तंत्र खराब हो जाता है जिससे इम्युनिटी कमजोर हो जाती है। हम आपको पेट साफ़ करने के बहुत ही सरल घरेलू उपचार बताएंगे लेकिन उससे पहले जान लें कि पेट साफ़ न होने के कारण और लक्षण-

बारिश के मौसम में क्या परहेज करें जिससे स्वास्थ्य ठीक रहे

पेट साफ़ न होने के कारण और लक्षण

कई कारण हैं जिनकी वजह से पेट अच्छे से साफ़ नहीं हो पाता जैसे –

स.कारणलक्षण
1. भोजन के तुरंत बाद पानी पीना सारा दिन आलस बने रहना वो भी बिना किसी श्रम के
2. ज्यादा मैदे युक्त और मसाले वाले भोजन का सेवन करना मुंह से बदबू आना
3. रात के समय भरपेट भोजन करना पेट में हल्का-हल्का दर्द रहना
4. आहार में फाइबर की कमी होना मल का अधिक सख्त और सूखा आना
5. हमेशा चिंता में रहना या अधिक सोचने की आदत सिर में भारीपन और टांगों में दर्द होना
6. शरीर में पानी की कमी से भी कब्ज़ की समस्या होती है जीभ पर सफेद परत का दिखना भी कब्ज़ का लक्षण हो सकता है
7. पुरीष (मल) के वेग को रोकने के कारण भूख का न लगना और भोजन करने का मन न होना
8. ज्यादा मात्रा में दवाइयों का सेवन करना चेहरे पर दाने निकलना, फोड़े-फुंसियां होना
9. नियमित समय पर भोजन न करना जी मचलाना और चक्कर आना भी कब्ज़ के लक्षण हैं

सही ढंग से पेट साफ़ कैसे करें?

पेट को अच्छे से साफ़ करने के लिए पहले हमें घरेलू उपायों का प्रयोग करना चाहिए। फिर उसके बाद हम आयुर्वेदिक उपचारों की मदद से भी पेट को साफ़ कर सकते हैं। आइये पहले कुछ सरल घरेलू उपाय जान लेते हैं –

सेब का रस

सेब का रस पेट की सफाई के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है। जो लोग सेब का रस पीने के शौक़ीन नहीं है, वे खाली पेट सेब भी खा सकते हैं। सेब का नियमित सेवन करने से शरीर के विषैले तत्त्व बाहर निकल जाते हैं और पाचन तंत्र भी मजबूत होता है, जिससे कब्ज़ के कारण गैस बनने की समस्या भी दूर हो जाती है।

भीगी हुई किशमिश

किशमिश में मौजूद फाइबर आपके पेट को सही ढंग से साफ़ करता है। मुट्ठी भर किशमिश को रात को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। गर्भवती महिलाओं को जो कब्ज़ की दिक्कत होती है उसमें ये बिना किसी साइड-इफ़ेक्ट के काम करती है।

अरण्डी का तेल

यदि कई दिनों से पेट साफ़ नहीं हुआ है और कब्ज़ की वजह से बुखार भी हो गया है तो उसके लिए 10 ग्राम अरण्डी के तेल को 250 ग्राम गर्म दूध में मिलाकर पी लें। इससे आँतों में जमा सारी गंदगी बाहर निकल जायेगी।

संतरें का रस

पुराना बिगड़ा हुआ कब्ज़ हो तो संतरों का रस खाली पेट प्रातः 8-10 दिन पीने से ठीक हो जाएगा। ध्यान रहे कि संतरों के रस में नमक, बर्फ या मसाला न मिलाएं। संतरे में विटामिन C उच्च मात्रा में होता है जो आपके पेट और आँतों की सफाई के लिए काफी उपयोगी है।

ईसबगोल की भूसी

10 ग्राम ईसबगोल की भूसी 125 ग्राम दही में घोलकर सुबह-शाम खिलाने से पेट अच्छे ढंग से साफ़ होता है। साथ ही इसे खाने से पेट में दर्द और गैस की समस्या भी ठीक हो जाती है।

त्रिफला चूर्ण

रात को सोने से पहले ताम्बे के लोटे में पानी भरकर उसमें 5 ग्राम त्रिफला चूर्ण (1 चम्मच) डालकर ढक दें। सुबह निहार मुंह छानकर पीएं। कुछ दिनों के प्रयोग के बाद कब्ज़ रोग जड़ से खत्म हो जाएगा। ये चूर्ण आपकी आँखों की रोशनी बढ़ाने में भी उपयोगी है।

हरड़

गुठली निकाली हुई बड़ी हरड़ का मुरब्बा एक या दो नग खिलाकर ऊपर से 250 ग्राम दूध पिला देने से ही 3-4 दस्त हो जाते हैं और पेट पूरी तरह साफ़ हो जाता है। नाजुक मिजाज रोगी को 1 हरड़ से ज्यादा नहीं देनी चाहिए।

सोंठ

पेट साफ़ न होने का कारण भोजन का अच्छे से हजम न होना भी है। इसलिए जिन्हें भोजन अच्छे से हजम नहीं होता, उन्हें मीठे आम का रस 20 ग्राम और सोंठ 2 ग्राम पीसकर मिला लें। 7 दिनों तक सुबह के समय पीएं। भोजन अच्छे से पचेगा भी और पेट भी सही ढंग से साफ़ होगा।

कपालभाति

कपालभाति एक ऐसा क्रिया योग है जो शरीर की 99% रोगों को ठीक करता है। पेट से जुडी सभी समस्याओं को इससे ठीक किया जा सकता है। कब्ज़, पेट में गैस बनना, भोजन का न पचना, भूख न लगना ऐसी सभी दिक्कतों को ठीक करने में कपालभाति बहुत ही उपयोगी है।

भोजन करने के नियम जिससे कभी कब्ज़ नहीं होगी

अब बात करते हैं भोजन करने के नियमों की जिससे आपको कभी कब्ज़ नहीं होगी और न ही कभी पेट से जुडी कोई परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

  • हमेशा हल्का और सात्विक भोजन ही करें।
  • सूर्यास्त से पूर्व शाम का भोजन कर लेना चाहिए।
  • ज्यादा मसाले वाला और ज्यादा पका हुआ भोजन न करें क्यूंकि इससे उसके सारे पोषक तत्त्व नष्ट हो जाते हैं।
  • दोपहर के भोजन से पूर्व सलाद जरूर खाएं जिनमें खीरा, ककड़ी, टमाटर आदि शामिल हों।
  • रात को सोते हुए दूध अवश्य पीएं।
  • भोजन के तुरंत बाद कभी पानी न पीएं। इससे अमाशय में भोजन को पचाने के लिए जो अग्नि प्रदीप्त होती है, वो बुझ जाती है जिससे खाना सड़ जाता है और विष का रूप ले लेता है।

कुछ सामन्य प्रश्न उत्तर

प्रश्न- ऐसे कौनसे से फल हैं जिनके सेवन से पेट साफ़ होता है?

उत्तर- जिन फलों में फाइबर की मात्रा ज्यादा हो और रस भरे फल हों जैसे पपीता, सेब, संतरे, अमरुद, नाशपाती खाने से पेट और आंतें साफ़ होती हैं।

प्रश्न- पेट अच्छे से साफ़ न होने के क्या नुकसान हैं?

उत्तर- पेट साफ़ न होना या कब्ज़ होना, ये कई बिमारियों को न्योता देते हैं जैसे सिर दर्द, जी मचलाना, पेट दर्द, मुंह से बदबू आना, पाइल्स की समस्या और अलसर आदि समस्या भी हो सकती है।

प्रश्न- क्या कब्ज़ से वजन भी कम हो सकता है?

उत्तर- कब्ज़ की समस्या से डायबिटीज के रोगियों को थकान ज्यादा महसूस होती है, धुंधला दिखाई देता है और पेट साफ़ नहीं होगा तो अच्छे से भूख नहीं लगेगी जिससे नैचुरली है कि वजन कम होगा ही।

प्रश्न- पेट को सही ढंग से साफ़ करने के लिए कौनसा योग करें?

उत्तर- मलासन एक ऐसा योग है जो पेट को अच्छे से साफ़ करने में बहुत उपयोगी है। इससे पहले एक गिलास गुनगुना पानी पी लीजिये और ध्यान रहे कि शौच हमेशा देसी सीट पर ही करें।

निष्कर्ष

इन उपर्युक्त घरेलू उपायों से आपका पेट सही ढंग से साफ़ हो जाएगा, क्यूंकि ये प्रमाणित नुस्खें हैं। परन्तु फिर भी यदि आपको किसी चीज से एलर्जी है या डॉक्टर ने आपको कोई चीज मना की है तो उसे पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करके ही प्रयोग में लाएं। धन्यवाद।

ये भी पढ़ें –

सूखी खांसी को जड़ से खत्म करने के रामबाण नुस्खे

स्टैमिना कैसे बढ़ाएं, घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खे

शिलाजीत के गुण जानकर हैरान रह जाओगे और नमन करोगे हमारे आयुर्वेदिक ऋषियों को

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article