Monday, May 23, 2022
Body Healthज्यादा नींद आना किस बीमारी के लक्षण है, इसके कारण और उपाय...

ज्यादा नींद आना किस बीमारी के लक्षण है, इसके कारण और उपाय | Hypersomnia Treatment at Home in Hindi

- Advertisement -

ज्यादा नींद आना किस बीमारी के लक्षण है, इसके कारण और उपाय Hypersomnia Treatment Natural in Hindi

यदि आप रातभर 8-10 घंटे सोने के बाद भी अगले दिन दिनभर थकान का अनुभव करते हैं तो आपको अब सचेत हो जाने की आवश्यकता है क्यूंकि ऐसा हो सकता है कि ये किसी गंभीर बीमारी की वजह से हो या विटामिन्स और मिनरल्स की कमी के कारण भी अक्सर ऐसा होता है।

hypersomnia से आपका दिनभर के कार्य पर प्रभाव पड़ता है चाहे वो आपका ऑफिस का काम हो, सामाजिक कार्य हों या कोई घरेलू काम हों। आज दिनभर अधिक नींद आने के घरेलू उपचारों के (Hypersomnia Treatment at Home in Hindi) बारे आगे बताएंगे कृपया लेख को पूरा पढ़ें।

Hypersomnia क्या है?

हाइपरसोमनिआ एक ऐसी अवस्था है जिसमें पूरी रात गहरी नींद लेने के बाद भी अगले सारा दिन नींद आती रहती है। इसमें आप किसी से बात करते-करते भी झपकी लेने लग जाते हैं। इस वजह से आपके कार्य करने की क्षमता भी प्रभावित होती है और दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है।

ज्यादा नींद आने के कारण और लक्षण

दिने में नींद आने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आइये जानते हैं –

स. कारण लक्षण
1आयरन की कमी से हमेशा थकान रहनी
2हाइपोथायरायडिज्म के कारण एकाग्रता में कमी
3हृदय रोग के कारण छोटी-सी बात पर ही चिड़चिड़ापन होना
4तनाव या घबराहट की वजह से रातभर सोने के बाद भी ताजगी का अनुभव न करना
5शरीर का भार बढ़ जाए तो बात करते-करते या ड्राइव करते नींद आ जाना
6पारिवारिक इतिहास हो तो भी ऊर्जा का स्तर कम होना
7ड्रग्स या शराब के अधिक सेवन से भूख में कमी
8मधुमेह के कारण तेज सिरदर्द होना
9दवाओं के अधिक सेवन से भी अक्सर गलत निर्णय लेना

ज्यादा नींद आने के घरेलू उपाय (Hypersomnia Treatment at Home in Hindi)

हर समय नींद आते रहना आपके काम करने की क्षमता पर बुरा असर डालता है और सामाजिक कार्यों को करने में भी परेशानी होती है। इसलिए कुछ सरल घरेलू उपाय है जिनसे आप अधिक नींद आने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

नियमित व्यायाम करें

अपनी दिनचर्या में कुछ समय व्यायाम के लिए अवश्य निकालें क्यूंकि इससे खून का दौरा अच्छा होगा और तनाव, घबराहट जैसी समस्याएं उत्पन्न नहीं होंगी। 20-30 नित्य व्यायाम अवश्य करें, अधिक नींद आने की समस्या से छुटकारा मिलेगा और नीद की गुणवत्ता में सुधार होगा।

अखरोट का सेवन करें

अखरोट को भिगोकर खाएं ताकि उसकी गर्म तासीर कुछ कम हो जाए और आपको मुंह में छाले न पड़ें। इससे वजन नियंत्रित रहेगा, डायबिटीज कण्ट्रोल रहेगी और कब्ज़ भी नहीं होगी। ये बहुत बड़े कारण हैं अधिक नींद आने के।

अलसी के बीज

अलसी के बीज में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं जो थकान को दूर करते हैं हर समय नींद आने की समस्या से छुटकारा दिलाते हैं। ध्यान रहे कि अलसी के बीजों को पहले भूनकर फिर इसे पीसकर इसका सेवन करें।

अलसी के बीज संबंधी अन्य जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें

शराब का सेवन न करें

रात को बिस्तर पर जाने से पहले शराब का सेवन न करें क्यूंकि इससे कुछ देर तो गहरी नींद आ जाती है लेकिन जब नींद खुलती है तो फिर नहीं आती। अगले दिन भी थकान और सिरदर्द का अनुभव होता है।

एक ही समय बिस्तर पर जाएँ

यह सुनिश्चित कर लें कि नित्य सोने का एक ही समय रखें। जिस कमरे में सो रहे हैं वह खुला हवादार हो, शांत हो, अँधेरा हो और बिस्तर पूरा आरामदायक हो।

ज्यादा नींद आने के नुकसान

यदि आपको हद से ज्यादा नींद आती है या बैठे-बैठे ही सोने लगते हैं तो ये आपकी सेहत के लिए हानिकारक है और इससे कई गंभीर रोग लग सकते हैं।

  • ज्यादा नींद लेने से डिप्रेशन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। 9 घंटे से ज्यादा नींद लेने से डिप्रेशन की संभावना बढ़ जाती है।
  • डायबिटीज होने का खतरा भी बढ़ जाता है
  • एक शोध में ये बात सामने आयी है कि ज्यादा सोने से हार्ट डिजीज का खतरा दोगुना हुआ है।
  • याद्दाश्त पर भी बुरा असर पड़ता है और एकाग्रता में भी कमी आती है।
  • शास्त्रों में भी स्पष्ट कहा गया है कि अधिक नींद लेने से और दिन में सोने से शरीर कमजोर होता है।

निष्कर्ष

उपर्युक्त उपायों (Hypersomnia Treatment at Home in Hindi) के अलावा आप किसी अच्छे चिकित्सक से सम्पर्क करके schedule बनवा सकते हैं जिससे आपको अधिक नींद आने की समस्या से छुटकारा मिले और कुछ आहार में बदलाव लाकर भी इस समस्या से निजात पाई जा सकती है।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – किस विटामिन की कमी से ज्यादा नींद आती है?

उत्तर – विटामिन इ, बी12 और खनिजों में जिंक की कमी के कारण अधिक नींद आती है। इसलिए डाइट में पोषक तत्वों की कमी न होने दें।

प्रश्न – ज्यादा नींद आना किस बीमारी का लक्षण है?

उत्तर – हर केस में ऐसा हो कि ज्यादा नींद किसी बीमारी की वजह से है तो ये बात भी सच नहीं है। लेकिन ज्यादा नींद आना खतरे की घंटी जरूर है क्यूंकि हृदय रोग और स्लीप एप्निया के कारण भी ज्यादा नींद आती है।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article