Sunday, May 22, 2022
Women's Healthफैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज खोलने का जबरदस्त आयुर्वेदिक उपचार | Hydrosalpinx Treatment...

फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज खोलने का जबरदस्त आयुर्वेदिक उपचार | Hydrosalpinx Treatment in Ayurveda Hindi

- Advertisement -

Hydrosalpinx Treatment in Ayurveda Hindi फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज खोलने का जबरदस्त आयुर्वेदिक उपचार

महिलाओं में 30 से 40 प्रतिशत गर्भधारण न होने की समस्या इन्हीं फॉलोपियन ट्यूब्स का बंद होना ही है। ट्यूब्स में पानी भरने की वजह से कई बार महिलाओं को ब्राउन डिस्चार्ज की समस्या भी हो जाती है। फॉलोपियन ट्यूब्स एक पतली सी ट्यूब होती है जो ओवरी से अंडे को uterus तक पहुंचाने का काम करती है।

इस लेख में आप बंद ट्यूब खोलने के घरेलू उपाय जानेंगे लेकिन पहले hydrosalpinx के कारण और लक्षणों के बारे में, इसलिए कृपया कर लेख को पूरा पढ़ें।

Hydrosalpinx क्यों होता है? (Hydrosalpinx Causes)

ज्यादातर नलों में पानी भरना किसी न किसी इन्फेक्शन की वजह से होता है जैसे टीबी, एसटीडी या बच्चेदानी का कोई संक्रमण। इस इन्फेक्शन के कारण ट्यूब बाहर की ओर से बंद हो जाती है और अंदर पानी भर जाता है। इन ट्यूब्स के छोटे-छोटे बाल भी होते हैं जो अंडे को अंदर लाते हैं परन्तु इस इन्फेक्शन की वजह से बाल खत्म हो जाते हैं, जिससे स्त्री का माँ बनना मुश्किल हो जाता है।

Hydrosalpinx के लक्षण (Symptoms of Hydrosalpinx)

ट्यूब्स में पानी भर जाने पर ब्राउन डिस्चार्ज निकलने लगता है और निसंतानता तो सबसे बड़ा लक्षण है ही। इसके साथ ही कुछ महिलाओं को पेट के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत भी पाई गयी है।

फॉलोपियन ट्यूब खोलने के लिए आयुर्वेदिक उपचार (Hydrosalpinx Treatment in Ayurveda Hindi)

आयुर्वेद में बंद नलिकाओं को खोलने का उपचार होता है और वो भी बिना किसी खराब असर के। लेकिन ये भी सच है कि हर महिला के अनुसार ही औषधि का चयन किया जाता है।

मालिश करें

तिल के तेल में थोड़ी-सी दालचीनी और थोड़ा सा अदरक मिलकर 5 मिनट तक हल्की आंच पर पकाएं और फिर इसे छानकर सुरक्षित रख लें। इसके बाद अपने पेल्विक एरिया में इसकी मसाज हल्के हाथों से करें। तत्पश्चात गरमपट्टी बांध लें। बीएस ध्यान रहे गरमपट्टी ज्यादा टाइट न बांधें।

लहसुन और अदरक

लहसुन और अदरक दोनों में ही एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो किसी भी प्रकार की सूजन को कम करने में उपयोगी हैं और साथ ही यह बंद नलिकाओं को खोलने में भी अत्यंत लाभकारी हैं। आपको 50-50 gm लहसुन और अदरक का रस निकाल लेना है और 50 ml ही नीम्बू के रस में मिलकर किसी कांच की शीशी में भरकर रख लेना है। इसका एक चम्मच सुबह खाली पेट शहद के साथ लेने से hydrosalpinx की समस्या से छुटकारा मिलता है।

सिकाई करें

अजवाइन को किसी साफ़ सूती कपड़े में डालकर तवे पर गर्म कर लें और फिर इसकी सिकाई अपने पेल्विक एरिया पर करें। सिकाई आपकी बंद नलियों को खोलने में बहुत ही उपयोगी हैं।

उत्तर बस्ति

किसी अच्छे आयुर्वेदिक चिकित्सक के द्वारा उत्तर बस्ति के प्रयोग से भी hydrosalpinx की समस्या को ठीक किया जा सकता है और इसपर सफल परीक्षण किया भी गया है।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article