Home Remedies For Taste & Smell Loss in Hindi

स्वाद और गंध न आने पर क्या घरेलू उपाय करें | Home Remedies For Taste & Smell Loss in Hindi

Spread the love

स्वाद और गंध न आने पर क्या घरेलू उपाय करें Home Remedies For Taste & Smell Loss in Hindi

क्या आपको भी स्वाद और गंध आनी बंद हो गयी है? क्या आपको डर लग रहा है कि कहीं ये कोरोना की वजह से तो नहीं ? ऐसे सभी प्रश्नों का जवाब देने की कोशिश करेंगे और सभी संशयों को दूर करेंगे।

जरूरी नहीं है कि स्वाद और गंध न आना सिर्फ कोरोना के ही लक्षण है। ये तो जब इंसान को आम बुखार या वायरल फीवर हो जाता है तो उसमें भी ये लक्षण देखने को मिलते हैं। एंटीबायोटिक्स और मल्टीविटामिन्स युक्त दवाओं का सेवन करने से भी ये समस्या हो जाती है।

कोरोना की तीसरी लहर से अपने बच्चों को कैसे सुरक्षित रखें?

स्वाद और गंध जाना आखिर क्या है?

मेडिकल भाषा में इसे anosmia कहा जाता है। नेसल कैविटी में olfactory nerves होती हैं जो किसी भी प्रकार की गंध को ग्रहण कर olfactory bulb तक पहुंचती हैं और यहाँ से सेंट्रल नर्वस सिस्टम में जाती है और फिर उसके बाद दिमाग में जाती है। जब हमारी olfactory bulb डैमेज हो जाती है तो हम किसी भी सुगंध को महसूस करने में असमर्थ हो जाते हैं। इसी वजह से ही स्वाद का अनुभव होना भी बंद हो जाता है।

स्वाद और गंध न आने के कारण

जिन लोगों बहुत ज्यादा सर्दी बनी रहती है या अलेर्जी रहती है उनकी olfactory bulb डैमेज हो जाती है जो गंध को ब्रेन तक पहुंचाने का काम करती है। आजकल जैसे कोरोना वायरस चल रहा है तो इस वजह से भी स्वाद और गंध न आना आम हो गया है। इसके और भी अन्य कारण हैं, आइये जानते हैं –

स.कारण
1वायरल बुखार की वजह से
2एंटीबायोटिक्स के अधिक सेवन से
3लम्बे समय तक अलेर्जी रहने के कारण
4कोरोना वायरस के कारण
5नाक में किसी इंजरी के कारण
6साइनोसाइटिस की वजह से
7जिंक की कमी के कारण
8otrivin जैसे nasal decongestant का अधिक प्रयोग करने से

आसान घरेलू उपाय जो स्वाद और गंध को वापिस लाएंगे (Home Remedies For Taste & Smell Loss in Hindi)

गंध न आने से स्वाद आना भी बंद हो जाता है क्यूंकि olfactory bulb का सम्पर्क हमारे नाक जीभ दोनों से है। इसलिए आपने सुना होगा कि कहते हैं कि नाक बंद करके करेले का जूस पी जाओ क्यूंकि उससे स्वाद का पता नहीं चलेगा। लेकिन स्वाद और गंध न आना खतरनाक भी है इसलिए घरेलू नुस्खे जानेंगे जिससे स्वाद और गंध का अनुभव किया जा सके।

गर्म पानी की भाप लेना

एलर्जी के कारण कई बार नाक बंद हो जाती है और कुछ लोगों को जुकाम के कारण भी नाक से स्मेल आनी बंद हो जाती है। इसके लिए आपको पानी गर्म करके उसकी भाप लेनी चाहिए लेकिन इसमें कुछ महत्वपूर्ण सामग्री का प्रयोग करना अति आवश्यक है। आइये जानते हैं क्या है वो सामग्री –

  • 10 तुलसी के पत्ते
  • 5 लौंग पीसी हुई
  • अदरक 2-5 इंच का टुकड़ा थोड़ा क्रश कर लें
  • नीम्बू की 3-5 बूँदें

इसके बाद गहरी सांस नाक से लें और नाक से ही छोड़ें। 3 दिन से लेकर 3 हफ्ते तक का समय लग सकता है गंध और स्वाद वापिस आने में। डॉक्टर निशांत जैन आयुर्वेदाचार्य जी ने इस नुस्खे के बारे में बताया है और उनका कहना है कि बहुत से लोगों को इस नुस्खे से आराम मिला है।

अणु तेल

कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद भी कुछ लोगों की सूंघने की शक्ति चली जाती है और स्वाद भी नहीं आता। इसके लिए आपको अणु तेल की 2-3 बूँदें सुबह के समय नाक में डालनी हैं। इसके आस्चर्यजनक लाभ देखने को मिले हैं। कुछ लोगों की 3-5 दिनों में ही गंध और स्वाद लेने की क्षमता वापिस आ गयी है।

अदरक

अदरक विटामिन्स और मिनरल्स का खजाना है। ये सर्दी-जुकाम और कंठ सम्बन्धी रोगों को दूर करने में बहुत उपयोगी है। स्वाद में थोड़ा तेज होता है परन्तु इसके प्रयोग से हम अपने स्वाद को वापिस ला सकते हैं। बस हमें इसके छोटे-छोटे टुकड़े करके थोड़ा-सा नमक मिलाकर मुंह में रखकर चूसते रहना है। कुछ ही दिनों में आप महसूस करेंगे कि आपके मुंह का स्वाद वापिस आ रहा है।

एक्यू प्रेशर पॉइंट्स स्वाद और गंध वापिस लाने के लिए

एक्यू प्रेशर पॉइंट्स हमारे स्वाद और गंध को वापिस लाने में बहुत ही उपयोगी है। स्वाद को वापिस लाने के लिए आपको अपनी ठोड़ी के दोनों तरफ दबाव डालना है और गंध वापिस लाने के लिए आपको अपने नाक के ऊपरी हिस्से को अंगूठे और तर्जनी ऊँगली से दबाना है। ये प्रमाणित नुस्खा है और कई लोगों को तो इससे 15 मिनट के अंदर ही फर्क महसूस हुआ है।

एक्यू प्रेशर पॉइंट्स स्वाद और गंध वापिस लाने के लिए

अन्य प्रश्नोत्तर

प्रश्न – कोरोना ठीक होने के कितने दिनों बाद गंध और स्वाद स्वाभाविक रूप से वापिस आ जाता है?

उत्तर – कोरोना वायरस में स्वाद और गंध दोनों का चले जाना एक सामान्य लक्षण है। ये प्राकृतिक रूप से कोरोना के ठीक होने के बाद 10-15 दिनों में वापिस आ जाता है। कुछ लोगों को इससे अधिक समय भी लग सकता है। इसके लिए आपको नियमित रूप से अपने चिकित्सक के सम्पर्क में रहना चाहिए।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *