Sunday, October 2, 2022
Body Healthलगातार बहती नाक और छींके आने से हैं परेशान तो अपनाएं ये...

लगातार बहती नाक और छींके आने से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपचार | Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi

- Advertisement -

लगातार बहती नाक और छींके आने से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपचार Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi

जैसे ही मौसम बदलता है नाक का बहना और छींके आना शुरू हो जाता है। कुछ लोगों को धूल-मिटटी से एलर्जी होती है और इस वजह से भी नाक से पानी और छींके आने लगती हैं। सभा में बैठे होने पर बार नाक पोंछना और छींके आते रहना अपने-आप में ही शर्मिंदगी महसूस होती है।

आयुर्वेद में इसे प्रतिश्याय के नाम से जाना जाता है और मेडिकल टर्म में इसे allergic rhinitis कहा जाता है। इसमें मनुष्य बार-बार छींके आने और लगातार नाक में पानी बहने से परेशान हो जाता है। लेकिन आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्यूंकि घरेलू और योगिक उपचारो (Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi) द्वारा इसका परमानेंटली इलाज किया जा सकता है।

नाक से पानी आना छींक आना घरेलू उपचार (Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi)

अब जानिये नाक से पानी आना और छींक आने का घरेलू उपचार –

अदरक का रस और गुड़

अदरक के रस में भरपूर एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं जो बिमारियों से लड़ने के साथ ही आपकी इम्युनिटी को भी बढ़ाते हैं। अदरक के रस में कैंसर जैसी भयानक बीमारी से बचाये रखने वाले सभी गुण मौजूद होते हैं। सर्दी-खांसी, नाक से पानी बहना और छींके रोकने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

प्रयोग का तरीका – 1 चम्मच अदरक के रस में 1/2 चम्मच गुड़ का चूर्ण मिलाकर दिन में दो बार सेवन करने से छींके और नाक से पानी बहना रुक जाता है।

शहद और दालचीनी

शहद श्लेष्म झिल्ली पर अच्छा प्रभाव डालता है और वहां की सूजन को कम करता है जिससे छींके नहीं आती और दालचीनी डायबिटीज को नियंत्रित करने के साथ ही नाक बहना, खांसी और बार-बार छींके आने को रोकने के लिए उपयोगी है।

प्रयोग कैसे करें – 1 गिलास पानी में 1 चम्मच शहद और 1/2 चम्मच दालचीनी चूर्ण मिलाकर दिन में एक बार अवश्य सेवन करें। इससे छींके आना और नाक बहना रुक जाता है।

तेल की मालिश

तिल का तेल या बादाम रोगन – दोनों में से कोई भी तेल का प्रयोग करें। तेल को अपने नाक, सिर, माथे पर लगाकर अच्छे से मसाज करें और बादाम रोगन की एक-एक बूँद नाक में डाल भी लें। इससे नाक बहना और छींके आना तुरंत ( Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi) रुक जाता है।

लौंग का पानी

लौंग में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन को रोकने में मददगार होते हैं। इसके साथ ही लौंग दांत-दर्द और सूजन को ठीक करने में भी उपयोग की जाती है। नाक से पानी चलना, छींके आना – इसमें भी लौंग के पानी का सेवन उपयोगी होता है।

प्रयोग का तरीका – एक जग पानी में 1 लौंग अच्छे से उबाल लें और रात को सोते समय 1 कप पी लें। बाकी बचे हुए पानी को किसी थर्मस में डालकर रख लें और जब भी रात को जाग खुले तो एक कप फिर पी लें। सुबह उठते ही एक कप लौंग का पानी अवश्य पीएं। ऐसा कुछ दिन निरंतर करने से छींके और नाक से पानी बहना रुक जाएगा।

काली मिर्च का प्रयोग करेगा छींको को दूर

काली मिर्च पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ साथ कफ को ठीक करने के लिए भी फायदेमंद है। इसमें ऐसे कई तत्व पाए जाते हैं जो आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने में लाभकारी हैं। दो तरीकों से इसका प्रयोग करके आप नाक से पानी बहना और छींकों की समस्या से छुटकारा( Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi) पा सकते हैं।

प्रयोग कैसे करें – चुटकीभर काली मिर्च आधा चम्मच शहद में मिलाकर दिन में दो बार खाने से नाक से पानी चलना और छींके आना रुक जाता है।

सोंठ, आंवला और मुलेठी का चूर्ण

सोंठ, आंवला, मुलेठी और कालीमिर्च को बराबर मात्रा में लें और इसका चूर्ण बना लें और सुरक्षित किसी कांच की शीशी की में बंद करके रख दें। इसमें से एक चम्मच सुबह और शाम गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से नाक से पानी चलना और छींके आना रुक जाता है। ये नुस्खा साइनस के लिए भी बहुत उपयोगी है।

योगासन और प्राणायाम

सूर्यभेदी प्राणायाम, अनुलोम-विलोम और कपालभाति एवं योगासन में वीरभद्रासन, मत्स्येंद्रासन और सर्वांगासन – इन आसनों और प्राणायाम को करने से नाक से पानी आना और छींको की समस्या जड़ से खत्म हो जाती है।

छींके और नाक से पानी चलने पर क्या सावधानियां बरतें

कहते हैं इलाज से परहेज बेहतर है। इसलिए आपको कुछ सावधानियां बरत कर और परहेज करके इस समस्या से छुटकारा पाना चाहिए।

  • फ्रिज में रखे किसी भी सामान का सेवन न करें
  • आइस क्रीम, कोल्ड-ड्रिंक्स और सोडा आदि का सेवन न करें
  • धूम्रपान करना और शराब पीना छोड़ दें
  • AC, तेज पंखा और कूलर के सामने न बैठें
  • जंक फ़ूड बिल्कुल न खाएं
  • पैक्ड फ़ूड या जूस का सेवन भी न करें
  • बासी भोजन भी न खाएं
  • तेज गंध वाले परफ्यूम और sanitizer का प्रयोग न करें
  • कफवर्धक आहार का सेवन न करें
  • छींक, मूत्र और वीर्य के वेग को न रोकें
  • धूल-मिटटी वाले स्थान पर जाने से पहले अपने चेहरे को ढक लें
  • दिन में न सोएं
  • ज्यादा ठंडे जल से भी न नहाएं
  • नहाने और पीने के लिए गुनगुने पानी का प्रयोग करें
  • हल्का सुपाच्य भोजन खाएं

निष्कर्ष

उपर्युक्त सभी घरेलू नुस्खे ( Home Remedies for Running Nose & Sneezing in Hindi) नाक से पानी आना और छींके आना इनके लिए बहुत ही कारगर हैं। वैसे भी एलर्जी के लिए आपको सर्वप्रथम घरेलू उपायों का ही प्रयोग करना चाहिए। यदि इनसे फर्क महसूस न हो तो फिर आपको किसी कुशल चिकित्सक को दिखाकर दवा लेनी चाहिए।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – नाक से पानी क्यों टपकता है?

उत्तर – कुछ लोगों को एलर्जी होती है जैसे धूल-मिटटी, धुंए से या किसी खाने-पीने की चीज से तो इस कारण भी नाक से पानी टपकता है। इसके अलावा साइनस, जुकाम व सर-दर्द में भी नाक से पानी बहता है।

प्रश्न – खाना खाते समय नाक से पानी क्यों आता है?

उत्तर – भोजन में कई बार अधिक मिर्च-मसाले होते हैं, जिस कारण आँख और नाक दोनों से पानी आने लगता है।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article