Tuesday, October 4, 2022
BeautyPimples in Head Scalp: सिर में होने वाले फोड़े-फुंसी और मुंहासे का...

Pimples in Head Scalp: सिर में होने वाले फोड़े-फुंसी और मुंहासे का घरेलू उपचार | 5 Home Remedies For Pimple in Head Scalp in Hindi

- Advertisement -

सिर में होने वाले फोड़े-फुंसी और मुंहासे का घरेलू उपचार Home Remedies For Pimple in Head Scalp in Hindi

गर्मियों के मौसम में ज्यादा पसीना आने के कारण त्वचा पर दाने, फुंसियां हो जाना आम बात है। यही हाल हमारे सिर की त्वचा के साथ भी होता है। सिर में भी पसीना आता है जिससे scalp पर फुंसियां और दाने हो जाते हैं लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है, मैं आपको ऐसे उपयोगी घरेलू नुस्खे बताऊंगा जिससे कुछ ही दिनों में आप इस समस्या से छुटकारा पा लोगे।

Head Scalp पर पिम्पल्स आना आज की तारिख में डैंड्रफ जैसा आम हो गया है। पिम्पल्स ज्यादा वहां होते हैं जहाँ हमारी तैल ग्रंथि मायने sebaceuos glands सबसे ज्यादा एक्टिव रहती हैं, मतलब जहाँ सबसे ज्यादा sebum secrete होता है।

करें इस रूटीन को फॉलो बाल रहेंगे हमेशा स्वस्थ और सुन्दर

सिर में होने वाले मुंहासों के कारण

आइये अब जानते हैं वो कौनसे कारण हैं जिनकी वजह से सिर की त्वचा पर फुंसियां हो जाती हैं –

स.कारण
1बालों में ज्यादा तेल लगाने के कारण
2सिर में गंदगी की वजह से
3बैक्टीरिया या फंगल इन्फेक्शन होने से
4केमिकल युक्त hair products का प्रयोग करने से
5बालों में ज्यादा पसीना आने के कारण
6इम्युनिटी कम होने के कारण
7विटामिन की कमी की वजह से
8खून की कमी के कारण
9नींद की कमी, मोटापा, मधुमेह की वजह से भी

सिर में होने वाले फोड़े-फुंसी और मुंहासे का घरेलू उपचार (Home Remedies For Pimple in Head Scalp in hindi)

head scalp पर मुंहासे ठीक करने के लिए आपको घरेलू उपायों (Home Remedies For Pimple in Head Scalp in Hindi) का ही सहारा लेना चाहिए क्यूंकि ये बहुत ही लाभकारी होते हैं। आइये जानते हैं कुछ आसान और उपयोगी उपाय –

नीम

नीम के गुणों की तो क्या ही बात करूँ, इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स, एंटी-डायबिटिक और एंटी-बायोटिक गुण मौजूद होते हैं। आपको सिर की त्वचा पर मुंहासों को ठीक करने के लिए इसका प्रयोग इस प्रकार करना चाहिए।

प्रयोग करने का तरीका –नीम की पत्तियों को 2 गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें। फिर इसे स्प्रे बोतल में भरकर अपने head scalp पर जहाँ आपको फुंसियां हों वहां पर स्प्रे करें। इसे 2 घंटे तक लगा रहने दें और उसके बाद ताजे पानी से सिर धो लें। ऐसा हफ्ते में 3 बार करें।

टमाटर

टमाटर में विटामिन सी, पोटैशियम और लाइकोपीन पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है जो हमारी त्वचा के लिए बहुत ही उपयोगी है। head scalp पर पिम्पल्स को दूर करने और ph स्तर को बैलेंस करने में काफी लाभदायक है।

प्रयोग का तरीका – इसके लिए एक टमाटर का रस निकाल लें और रुई की मदद से पिम्पल्स पर लगाएं। 1 घंटे के लिए लगा रहने दें और उसके बाद किसी आयुर्वेदिक शैम्पू से सिर धो लें। हफ्ते में 2 बार इसका प्रयोग करें।

रीठे का पानी

बालों में गंदगी के कारण हमारे hair follicles बंद हो जाते हैं, जिसके कारण scalp में पिम्पल्स, रूसी आदि की समस्या हो जाती है। इसको दूर करने के रीठे का उपयोग बहुत ही गुणकारी है। रीठा बालों और स्कैल्प की अच्छी तरह सफाई कर देता है, आइये जानते हैं इसे कैसे प्रयोग करें –

प्रयोग करने का तरीका –

रात को रीठे के छोटे-छोटे टुकड़े करके पानी में भिगो दें। सुबह नहाते समय उस पानी को मसलकर उससे सर धोने से बाल लम्बे और घने होने के साथ-साथ स्कैल्प के पिम्पल्स, रूसी और खुश्की तीनों दूर हो जाती हैं।

तुलसी और पुदीने का पेस्ट

तुलसी और पुदीने की पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण मौजूद होते हैं जो आपकी स्कैल्प के लिए बहुत ही उपयोगी हैं, साथ ही यह तनाव को भी कम करती हैं। आइये इनका प्रयोग कैसे करें कि सिर की त्वचा के मुंहासे ठीक हो जाएँ।

प्रयोग का तरीका – तुलसी के 10 पत्ते और पुदीने के भी 10 पत्ते पानी में अच्छी तरह पीसकर सुबह स्कैल्प पर पिम्पल्स वाली जगह पर लगा लें। 15-20 मिनट बाद सिर ताजे पाने से धो लें। मुंहासे, डैंड्रफ सब दूर हो जाएगा।

दही है बहुत उपयोगी head scalp pimples में

दही में विटामिन बी12 और बी6 पाया जाता है जो हमारे बालों और स्कैल्प के लिए बहुत उपयोगी है और शहद तो हमारी त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है हम सभी जानते हैं क्यूंकि ये क्लींजिंग का काम भी करती है।

कैसे प्रयोग करें – 2-3 दिन पुरानी एक कटोरी दही लें और उसमें 2-3 चम्मच शहद मिलायें, पेस्ट बन जाएगा इसे अपने स्कैल्प पर लगा लें और 1 घंटे बाद किसी अच्छे आयुर्वेदिक शैम्पू का प्रयोग करते हुए ताजे पानी से धो लें।

कैसे करें बचाव

आइये अब जानते हैं कि head scalp पर पिम्पल्स हो ही न, इसके लिए हमें क्या बचाव कार्य करना चाहिए –

  • पुरुष तो कम से कम रोज अपने सिर को धोयें, आयुर्वेदिक शैम्पू से धोएं या आंवला, शिकाकाई और रीठे के पानी से धोएं। इससे बाल नहीं टूटेंगे। महिलाएं भी हफ्ते में 2-3 बार सिर जरूर धोएं।
  • हेयर स्प्रे, जेल या हेयर कलर का प्रयोग बंद कर दें।
  • वर्कआउट के बाद पसीने को जल्दी पोंछ लें।
  • ऑयली, जंक और फैटी फूड्स खाना सीमित कर दो।
  • शरीर में पित्त बढ़ने की वजह से भी पिम्पल्स होते हैं, इसलिए लस्सी, दही छाछ का सेवन अवश्य करें।

प्रश्नोत्तर

प्रश्न – क्या खान-पान का लेने-देना है स्कैल्प पिम्पल्स से?

उत्तर – जी बिल्कुल यदि हम ऑयली, जंक और फैटी फूड्स ज्यादा खाएंगे तो स्कैल्प एक्ने होने का ज्यादा खतरा रहेगा। हमें हमें आहार में विटामिन सी, A, जिंक, ओमेगा-3, एंटी-ऑक्सीडेंट्स को शामिल करना चाहिए जिससे हमारी सिर की त्वचा हमेशा स्वस्थ रहे।

प्रश्न – क्या स्कैल्प पिम्पल्स के कारण डैंड्रफ और हेयर लॉस हो सकता है?

उत्तर – सर की त्वचा पर फुंसिया या मुंहासे आपके बालों का झड़ना और डैंड्रफ बड़ा सकती हैं क्यूंकि पिम्पल्स से hair follicle में inflammation होती है जो बालों के झड़ने का कारण है।

इन्हें भी पढ़ें –

ये 7 आदतें आपको बना देंगी जल्दी बूढ़ा, इन्हें तुरंत छोड़िये

डार्क अंडरआर्म्स से पाएं छुटकारा सिर्फ 2 दिनों में, अपनाएं ये आसान प्राकृतिक उपाय

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article