Sunday, May 22, 2022
Body Healthछाती और फेफड़ों में जमा बलगम को बाहर निकालने के घरेलू उपाय...

छाती और फेफड़ों में जमा बलगम को बाहर निकालने के घरेलू उपाय | 7 Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi

- Advertisement -

7 Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi छाती और फेफड़ों में जमा बलगम को बाहर निकालने के घरेलू उपाय

छाती में कफ जमने से आपको सांस लेने में भी दिक्क्त हो सकती है। फेफड़ों में जमी कफ को यदि समय रहते न निकाला जाए तो निमोनिया की चपेट में आने से आपको कोई नहीं रोक सकता है। ज्यादतर सर्दी के मौसम में कफ जमने की शिकायत देखने को मिलती है और अभी कोरोना महामारी में भी सबसे ज्यादा फेफड़े ही होते हैं।

शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फेफड़ों का मजबूत होना बहुत जरूरी होता हैं क्यूंकि साँसों का आवागमन इसी पर निर्भर करता है। कुछ लोग इसे गंभीर समस्या नहीं मानते और इलाज नहीं करवाते लेकिन इसे ऐसे ही छोड़ देना आने वाले समय में कई रोगों को जन्म दे सकता है। यदि आप चिकित्सक के पास जाने से डरते हैं या आपके पास समय का अभाव है तो आप कुछ सरल घरेलू नुस्खों आजमाकर (Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi) अवश्य देखें, आपको निश्चित ही लाभ मिलेगा।

फेफड़ों में कफ होने के लक्षण

निम्नलिखित लक्षणों से साबित हो जाता है कि आपके फेफड़ों और छाती में बलगम जमा है –

स. कारण
1 नाक बहना और बुखार आना
2 खांसते हुए छाती में दर्द होना
3 सांस लेने में तकलीफ होना
4 सिरदर्द भी हो जाता है
5 छाती में घरघराहट जैसी आवाज़ आना
6 नींद आने में मुश्किल होती है
7 थकान और कमजोरी महससू होना
8 खांसते हुए बलगम के साथ खून आना

फेफड़ों में बलगम क्यों बनता है

बलगम बनने के बहुत से कारण होते हैं जैसे कि सर्दी-फ्लू, वायरल या बैक्टीरियल इन्फेक्शन, साइनस, अधिक मात्रा में धूम्रपान करना एवं शराब पीना।

फेफड़ों में जमा बलगम कैसे निकाले (Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi)

फेफड़ों में जमा बलगम को बाहर निकालने के लिए आप कुछ घरेलू नुस्खे आजमाइए। इससे निश्चित रूप से आपको काफी लाभ ह मिलेगा। आइये जानते हैं कुछ घरेलू उचार –

गुड़ और अदरक का सेवन निकालेगा फेफड़ों से बलगम

गुड़ में फॉस्फोरस उच्च मात्रा में होता है जो कफनाशक है और अदरक में सर्दी-खांसी को दूर करने के सभी गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही एसिडिटी और कमजोरी को दूर करने में दोनों ही लाभकारी हैं। कफ को फेफड़ों से बाहर निकालने के लिए इस तरह प्रयोग करें –

प्रयोग का तरीका – गुड़ को कूटकर थोड़ा -सा गर्म कर लें और इसमें थोड़ा-सा अदरक का रस मिलाएं। इस मिश्रण को दिन में दो बार सेवन करें। 3 से 5 दिनों में छाती में जमा बलगम पिघलने लगेगी और बाहर निकल जायेगी।

सूखी खांसी को दूर करने के रामबाण उपाय

काली मिर्च और शहद का सेवन करेगा बलगम को दूर

काली मिर्च एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर है और ठंड में होने वाली सर्दी-खांसी और कफ को बाहर निकालने के लिए बहुत फायदेमंद है। शहद में गले को आराम पहुंचाने वाले गुण होते हैं और काली मिर्च के साथ मिलकर ये जमी बलगम को पिघलाकर बाहर (Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi) निकाल देती है।

प्रयोग कैसे करें – काली मिर्च मिर्च के 5 दाने लें और अच्छे से चट्टू में कूटकर चूर्ण बना लें। फिर इसे एक चम्मच शहद में मिलाकर रात को सोते समय सेवन करें। छाती और फेफड़ों में जमा बलगम बाहर निकलेगी और सांस लेने में भी आसानी होगी।

गिलोय का काढ़ा

गिलोय में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण फेफड़ों को वायरस और बैक्टीरिया से बचाते हैं और साथ ही श्वसनीशोथ में भी उपयोगी हैं। covid-19 माहामारी के दौरान भी गिलोय का काढ़ा पीने से लोगों को काफी आराम मिला है। सर्दी की वजह से फेफड़ों में जमने वाली बलगम को भी बाहर निकालने में गिलोय अति उत्तम है।

प्रयोग का तरीका – 200 ml पानी में एक 5 इंच की डंडी डालकर मध्यम आंच पर पका लें और अच्छे से उबलने दें, साथ में चाहे तो छोटा टुकड़ा अदरक का भी दाल सकते हैं और मिठास के लिए गुड़ मिला लें। फिर इसे छानकर गुनगुना कर लें और इसका सेवन करें। हफ्ते में ही लाभ मिलेगा।

जानिये कोरोना की तीसरी लहर से अपने बच्चों को कैसे बचाएं

भाप लेना भी है फायदेमंद

एक बड़े पतीले में पानी को अच्छी तरह उबाल लें और उसमें चाहे तो नीलगिरि के तेल की कुछ बूँदें मिला लें। इसके बाद अपने सिर को चारों तरफ से ढककर भाप लें। आप देखेंगे कि बलगम पिघलकर नाक के जरिये बाहर निकल जायेगी।

तेजपत्ता बलगम और सांस लेने की परेशानी को दूर करता है

तेजपत्ता सब्जी में स्वाद को तो बढ़ाता ही है और साथ में फ्लू और संक्रमण से भी बचाता है। इसके साथ अदरक हर प्रकार के बैक्टीरिया और वायरस से लड़ता है और शरीर की रक्षा करता है। इन दोनों का प्रयोग फेफड़ों में जमा कफ को बाहर निकालने के लिए इस तरह करें।

प्रयोग का तरीका – 5-6 तेजपत्ते, एक बड़ी अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें – इन दोनों को 500ml पानी में डालकर 10 मिनट तक उबाल लें। उबालते समय 5-7 दाने लौंग के भी डाल दें। फिर इसे छानकर ठंडा होने के लिए रख दें। सेवन करते समय दो बड़े चम्मच एक कप में डालें और बाकी गुनगुना पानी मिला लें और खाली पेट सेवन करें। स्वाद अच्छा न लगे तो शहद मिला सकते हैं। हफ्ते की औषधि तैयार है और एक हफ्ते में ही आपको फर्क दिख जाएगा।

नस्य लेने से भी छाती में जमा बलगम बाहर निकल जाती है

सरसों के तेल की दो-दो बूँदें रात को सोते समय नाक में डालने से गले, छाती में जमा बलगम बाहर निकल जाती है। ये बालों के लिए उत्तम है और साइनस को ठीक करने में भी लाभकारी है।

आदि मुद्रा से होंगे फेफड़े मजबूत

फेफड़ों को मजबूत बनाने के लिए आदि मुद्रा का प्रयोग करें और साथ ही इससे आपकी इम्युनिटी भी बढ़ेगी। यकीन मानिये किसी प्रकार का फ्लू आपको छू नहीं पायेगा। इसे करने के लिए अंगूठे की टिप को अपनी कनिष्ठा ऊँगली की जड़ में लगाएं और मुट्ठी बंद कर लें। नित्य 20 मिनट मेरुदंड सीधा रखकर अवश्य करें। फेफड़ों में बलगम जमना, सर्दी-खांसी और बुखार जैसी समस्या हमेशा (Home Remedies to get rid of Mucus in Lungs in Hindi) के लिए दूर हो जायेगी।

छाती में कफ जमने पर क्या करें

निम्नलिखित उपाय करने से आप छाती में कफ जमने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं –

  • भोजन के बाद गुड़ खाने की आदत डालें
  • शहद और नीम्बू शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकालने के साथ-साथ कफ को भी बाहर निकालते हैं
  • लहसुन का सेवन भी हितकारी है
  • मुलेठी भी कफशामक है। कभी-कभी मुलेठी चूस लेनी चाहिए
  • सूखा आंवला और मुलेठी – थोड़ी-थोड़ी मात्रा में कूटकर गर्म पानी के साथ लेने से छाती में जमा कफ बाहर निकल जाता है

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – क्या खाने से कफ होता है?

उत्तर – दूध और दूध से बने पदार्थों का अधिक सेवन करने से और कुछ लोगों को सूर्यास्त के बाद दूध लेने से भी कफ हो जाता है।

प्रश्न – कफ रोग के निदान के लिए कौनसी क्रिया लाभदायक है?

उत्तर – जिह्वामूलधौति क्रिया करने से कफ रोग का नाश हो जाता है। इसे करने के लिए तर्जनी, मध्यमा और अनामिका तीनों उँगलियों को गले में डालकर जिह्वामूल को साफ़ करें।

बंद नाक को तुरंत खोलने के जबरदस्त घरेलू उपाय

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article