Sunday, August 14, 2022
Men's Healthपुरुष अंडकोष में दर्द और सूजन के घरेलू उपाय व कारण और...

पुरुष अंडकोष में दर्द और सूजन के घरेलू उपाय व कारण और लक्षण | Testical Pain Problem Reason & Home Remedies in Hindi

- Advertisement -

पुरुष अंडकोष में दर्द और सूजन के घरेलू उपाय व कारण और लक्षण | Testical Pain Problem Reason & Home Remedies in Hindi

पुरुष के शरीर का सबसे संवेदनशील हिस्सा अंडकोष होते हैं। इसमें हल्की ही भी होने वाली पीड़ा चीखें निकलवा देती है। ये पुरुषों में होने वाली एक आम समस्या है, परन्तु इसके होने काम में ध्यान देना मुश्किल हो जाता है।जब बच्चा माँ के पेट में होता है तब ये बच्चे के पेट के अंदर रहते हैं, फिर ये बाहर की तरफ निकल आते हैं और स्क्रोटम बाहर की ओर झूले हुए रहते हैं। स्क्रोटम में ही हमारे testes होते हैं। अंडकोष एक नली के माध्यम से एपिडेमिक्स के साथ जुडी होती है।

यहाँ पर एक बात बता दूँ कि testes सिर्फ स्पर्म का प्रोडक्शन ही नहीं करते बल्कि इनका हार्मोनल फंक्शन भी होता है, वो एक हॉर्मोन देते है, जिसे टेस्टेस्टेरोन कहते हैं। इसी हॉर्मोन की वजह से पुरुषों में मर्दाना ताकत आती है और चेहरे और शरीर में बदलाव भी होते हैं।

जानिये टीबी के कारण, लक्षण और इसे ठीक करने के घरेलू उपचार

अंडकोषों में दर्द के कारण

अंडकोषों में दर्द के कई कारण हो सकते हैं। 99% लोगों में निम्नलिखित कारणों की वजह से टेस्ट्स में दर्द होता है –

Epididymitisये टेस्ट्स के ऊपर लगी एक ग्रंथि है, जिसके अंदर स्पर्म स्टोर होता है। यहाँ पर इफेक्शन आ सकता है और ये इन्फेक्शन पेशाब के बाद हस्तमैथुन करने से आता है।
Varicoceleइसमें टेस्ट्स की नसों में सूजन आ जाती है। veins का वाल्व खराब होने की वजह से खून का जमाव हो जाता है, जिससे अंडकोषों में दर्द महसूस होता है।
Hydrocele/Herniaअगर अंडकोष के अंदर पानी भर जाए, उसे hydrocele कहते हैं। और पेट के छेड़ में से आंत घुस जाए, तो उसे हर्निया कहते हैं। दोनों में टेस्ट्स फूल जाता है और दर्द होता है।
Neuralgiaये सबसे आम कारण है कि किसी नस का खिच जाना। नस खिचने के कारण पेन होता है और ये दर्द पेट और कमर पर भी चढ़ सकता है।
Epidydmal Cystटेस्ट्स के अंदर पानी की गांठे बन सकती हैं या इनमें स्पर्म भी हो सकता है। जिस वजह से अंडकोषों में दर्द होता है।
Tuberculosisभारत में टीबी बहुत कॉमन है। अगर छाती का टीबी है तो अंडकोषों में भी जा सकता है, जिससे बच्चे पैदा करने में भी दिक्कत आती है।
Orchitisइसमें अंडकोषों में सूजन होती है। यह किसी बैक्टीरिया या वायरस की वजह से हो सकती है। ज्यादातर ऐसी सूजन mumps वायरस के कारण होती है।
Kidney Stonesगुर्दे में पथरी होने की वजह से भी टेस्ट्स में दर्द होता है

कैसे बचा जा सकता है अंडकोषों में होने वाले दर्द से?

हमें अपने निजी जीवन कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना होगा जिससे हम अंडकोषों में होने वाले दर्द से बच सकते हैं। आइये जानते हैं ऐसे कौनसे उपाय हैं –

  • कोई भी वजन उठाने से पहले या रनिंग करते समय लंगोट जरूर पहने।
  • ज्यादा तेजी से हस्तमैथुन भी न करें।
  • यदि पार्टनर के साथ सेक्स कर रहे हैं तो सावधानी पूर्वक करें।
  • पेशाब करने के बाद कभी भी मैथुन न करें।
  • वीर्य वेग को कभी न रोकें।
  • अपने अंडकोषों को अधिक गर्मी से बचाएं जैसे लैपटॉप आदि को गोदी में लेकर न चलाएं।
  • किसी भी खेल को खेलते हुए अंडकोषों का गार्ड अवश्य पहनें ताकि चोट न लगे।
  • मोटापा न बढ़ने दें और पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं।

अंडकोषों में दर्द से शरीर में क्या लक्षण महसूस होते हैं

जैसे ही आपको नीचे दिए गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण महसूस हो तो इसका इलाज समय से शुरू कर दें. अन्यथा ये हानिकारक भी हो सकता है –

  • कमर के निचले हिस्से में असहनीय दर्द होना
  • टांगों का सुन्न होना अथवा हल्का-हल्का दर्द बने रहना
  • हर्निया के कारण होने वाले दर्द से जी मचलाता है और उलटी भी हो सकती है
  • ज्यादा टेस्ट्स में दर्द बढ़ने पर तेज बुखार भी हो सकता है
  • पेशाब करते हुए दर्द होना
  • पेट में भी कई बार तीव्र दर्द हो सकता है
  • वीर्य निकलते हुए भी दर्द होता है

अंडकोष में दर्द और सूजन के घरेलू उपाय

मैं कुछ आयुर्वेदिक और यौगिक उपचार बताऊंगा जिससे आप अपने टेस्ट्स में होने वाले दर्द और सूजन को कम कर सकते हैं।

योगासन

vericocele के कारण होने वाले दर्द और सूजन के लिए आपको दो योगासन अपने डेली रूटीन में जरूर शामिल करने चाहिए। उनका नाम है –

  • वीरासन
  • पवनमुक्तासन
  • गोमुखासन
  • गरुड़ासन

इन दोनों आसनो की मदद से आप अपने अंडकोषों की सूजन और दर्द को काफी हद तक ठीक कर लेंगे। बस ध्यान ये रहे कि ये दोनों आसन किसी योग शिक्षक के निरिक्षण में ही करें।

आराम करें

यदि टेस्ट्स में सूजन और दर्द है तो आराम करने से भी ये कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है। यदि अंडकोषों में दर्द की वजह से कमर के निचले हिस्से में दर्द होता है तो आप कमर के नीचे सिरहाना रखकर सोएं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

चंद्रप्रभावटी

यदि hydrocele की वजह से अंडकोष में दर्द या सूजन हो गयी है तो चंद्रप्रभावटी, वृद्धि वाधिका वटी व पुनर्नवादि मंडूर की 1-1 गोली का प्रयोग करें। बच्चों को चंद्रप्रभावटी की आधी गोली दिन में दो बार दें और बड़ों को 3 बार लेनी चाहिए।

Accupressure Point

पहले आप ये देख लें कि आपको किस टेस्टिकल में दर्द और सूजन है जैसे मान लें आपको बाएं वृषण में सूजन है तो बाएं पैर के ankle के दो अंगुल नीचे एक नस होती है, उसे 30 सेकण्ड्स के लिए दबाएं और फिर छोड़ दें। तत्पश्चात अंगूठे या अँगुलियों की मदद से clockwise और एंटी-clockwise मसाज करें। इससे आपको वृषण के दर्द और सूजन में काफी लाभ मिलेगा।

अरंडी के पत्ते

अरंडी के पत्ते पर तिल का तेल लगाएं और उसे तवे पर गर्म कर लें। ध्यान रहे जहाँ तेल लगाया है उसी तरफ से ही तवे पर रखें। फिर थोड़ा ठंडा होने पर जिस टेस्ट्स में आपको सूजन और दर्द है, वहां रखें और ऊपर से लंगोट बाँध लें। ये एक प्रमाणित नुस्खा है, इससे वृषण की सोजन और दर्द में आपको जरूर लाभ मिलेगा।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न- टेस्ट्स लटकने का क्या कारण है?

गर्मियों के मौसम में वृषण का लटकना आम बात है। साधरण रूप से टेस्ट्स लिंग से 3-4 इंच नीचे तक ही लटकते हैं। यदि इससे ज्यादा है तो आपको vericocele हो सकता है या आपकी स्किन बहुत ढीली हो सकती है।

प्रश्न- वृषण में सूजन से क्या नुकसान हो सकता है?

अंडकोषों में सूजन के कई कारण हो सकते हैं जैसे inguinal hernia, hydrocele . hydrocele में वृषण में पानी भर जाता है, जिससे अंडकोष फट सकता है। और व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है। इसलिए अंडकोषों में सूजन या दर्द होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ।

ये भी पढ़े –

ये रूटीन जिसने भी अपनाया बालों के झड़ने से 100% छुटकारा पाया

दाद, खाज, खुजली हो जायेगी छूमंतर बस अपनाये कुछ सरल घरेलू नुस्खे

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article