Friday, July 1, 2022
Body HealthMucormycosis: ब्लैक फंगस के लक्षण, कारण और घरेलू तरीके | Black Fungus...

Mucormycosis: ब्लैक फंगस के लक्षण, कारण और घरेलू तरीके | Black Fungus Home Remedies in Hindi

- Advertisement -

Mucormycosis: ब्लैक फंगस के लक्षण, कारण और घरेलू तरीके Black Fungus Home Remedies in Hindi

कोरोना महामारी से अभी पीछा नहीं छूटा और ब्लैक फंगस नाम का रोग पहले ही दरवाज़े पर दस्तक दे रहा है। हालाँकि ये कोई नई बिमारी नहीं है लेकिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों के ठीक होने बाद ये रोग ज्यादातर लोगों में देखा जा रहा है। इस लेख में ये बताया जाएगा कि किन लोगों को ब्लैक फंगस का खतरा अधिक है?, कैसे इससे बचा जाए?, कोरोना से ठीक होने के कितने समय बाद ब्लैक फंगस का खतरा टल जाता है? और इसका क्या उपचार है?

जानिये आँखों में खून उतर आने पर कौनसे घरेलू नुस्खे आजमाने चाहिए

ब्लैक फंगस क्या है?

ब्लैक फंगस को mucormycosis भी कहते हैं। ये एक तरह का फंगस ही है जो पहले से ही हवा और मिट्टी में मौजूद है। जैसे ब्रेड को फ्रिज के बाहर रखने पर उसपर हरा-हरा रंग आ जाता है, वे भी एक तरह का फंगस है। ब्लैक फंगस का नाम ब्लैक फंगस ऐसे पड़ा क्यूंकि ये जिस बॉडी पार्ट को डैमेज करती है, वहां का टिश्यू मर जाता है और उसका रंग काला हो जाता है। वैसे इसका रंग सफेद होता है।

ब्लैक फंगस होने का खतरा किसे सबसे अधिक है

जैसा कि ऊपर लिखा गया है कि ब्लैक फंगस हवा और मिट्टी दोनों में पहले से ही मौजूद है तो हर किसी को ये रोग क्यों नहीं हो रहा। इसलिए क्यूंकि जिन व्यक्तियों की इम्युनिटी मजबूत है, उन्हें ये रोग होने की समस्या कम है। अब जानते हैं किन्हें अधिक खतरा है ब्लैक फंगस होने का।

  • कैंसर से पीड़ित या जिनकी केमोथेरेपी चल रही हो
  • जिन्हें पुरानी किडनी की बीमारी हो
  • मधुमेह के रोगियों को सबसे ज्यादा ब्लैक फंगस होने का खतरा होता है
  • कोरोना बीमारी के दौरान स्टेरॉइड्स का गलत प्रयोग करने से
  • HIV/AIDS के रोगियों को
  • कोरोना मरीजों को ब्लैक फंगस का खतरा अधिक हो जाता है

ब्लैक फंगस के लक्षण

आइये अब जानते हैं कि कैसे पहचाने कि व्यक्ति को ब्लैक फंगस है यानि ब्लैक फंगस के लक्षण –

स.लक्षण
1एकतरफ सिर में दर्द होना
2नाक से खून आना
3चेहरे का सुन्न हो जाना
4दांतों में भयानक दर्द होना
5सांस लेने में मुश्किल होना
6चेहरे के एकतरफ सूजन आ जाना
7आँखों में सूजन होना और एक वस्तु दो दिखना
8आँख की पलक का नीचे लटक जाना
9आँखों की मूवमेंट न होना और भ्रम की स्थिति में रहना

ब्लैक फंगस से बचाव के घरेलू तरीके (Black Fungus Home Remedies in Hindi)

जैसे ही आपको उपर्युक्त लक्षण दिखाई दें तो आपको तुरंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए क्यूंकि ये बहुत ही खतरनाक बिमारी है। कुछ ऐसे सरल घरेलू तरीके हैं जो आपको कोरोना से ठीक होने के बाद करते रहना चाहिए जिससे ब्लैक फंगस से बचाव हो सके।

सुबह उठकर एक गिलास गुनगुने पानी में 2 चुटकी हल्दी, 1 चुटकी काली मिर्च और 2 चुटकी लौंग का चूर्ण डालकर अच्छे से मिला लें और इसका सेवन करें। 
आपको टूथपेस्ट की बजाय 4-5 बूँद सरसों के तेल को हथेली पर लेकर उसमें एक चुटकी सेंधा नमक और एक चुटकी हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लें और उससे ही दंत मंजन करें। इससे ब्लैक फंगस के कीटाणु मुंह में ही मर जाएंगे। 
अपनी आँखों को त्रिफला के पानी से धोएं। इससे आँखों में किसी भी प्रकार का फंगल इन्फेक्शन नहीं होगा। इसके अलावा शुद्ध शहद में सिलाई को डुबोकर उसे आँखों में लगाएं। ध्यान रहे कि शहद शुद्ध हो। 
मधुमेह के रोगियों को ब्लैक फंगस का खतरा सबसे ज्यादा होता है। दालचीनी का 2 से 3 इंच का टुकड़ा मुंह में रखकर चूसें, इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित होगा और मुंह में किसी प्रकार का फंगस नहीं पनपेगा। 
ब्लैक फंगस में एकतरफ सिर में दर्द होता है। इसके लिए आपको अदरक का काढ़ा पीना चाहिए क्यूंकि इससे आधे सिर का दर्द ठीक होता है और साथ ही सर्दी-खांसी जैसी समस्या भी नहीं होती। 

ब्लैक फंगस से बचाव के तरीके

कुछ सरल तरीके अपनाकर भी आप ब्लैक फंगस जैसी समस्या से बच सकते हैं। आइये जानते हैं –

  • अपनी शुगर को नियंत्रित रखिये
  • स्टेरॉइड्स का प्रयोग न कीजिये
  • अधिक पेन किलर न खाइये
  • पानी को घूंट-घूंट करके पीएं
  • अपने टूथब्रश को समय समय पर बदलते रहें
  • हाथों की सफाई का भी ध्यान रखें

कुछ सामान्य प्रश्न

प्रश्न – क्या ब्लैक फंगस कोरोना की तरह ही फैलता है?

उत्तर – जी नहीं, ये एक इंसान से दुसरे इंसान में कोरोना की तरह नहीं फैलता।

प्रश्न – किस उम्र के लोगों को ब्लैक फंगस का खतरा ज्यादा है?

उत्तर – देखिये वैसे तो ब्लैक फंगस किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है चाहे वः बच्चा हो या बूढ़ा। लेकिन 40 साल से ऊपर के लोग जिन्हें डायबिटीज है और स्टेरॉइड्स बिना चिकित्सक की सलाह के सेवन किया है तो उन्हें ब्लैक फंगस का खतरा जयादा है।

प्रश्न – यदि स्टेरॉइड्स की वजह से ब्लैक फंगस का खतरा अधिक है तो क्यों न स्टेरॉइड्स का प्रयोग बंद कर देना चाहिए?

उत्तर – क्यूंकि स्टेरॉइड्स वैसे तो एक बहुत ही चमत्कारी औषधि है लेकिन इसे हमेशा चिकित्सक के परामर्श से ही लेना चाहिए। अपने-आप खरीद के बिल्कुल भी स्टेरॉइड्स का सेवन न करें।

प्रश्न – वाइट फंगस क्या है?

उत्तर – वाइट फंगस भी एक तरह का फंगस ही है जिसे कैंडिडा नाम से भी जाना जाता है। लेकिन इससे इतना घबराने की आवश्यकता नहीं हैं। ब्लैक फंगस ज्यादा खतरनाक है।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article