Bhindi Khane Ke Fayde

सेहत के लिए लाजवाब है भिंडी का सेवन, जानें 9 चमत्कारी फायदे | Bhindi Khane Ke Fayde

Spread the love

सेहत के लिए लाजवाब है भिंडी का सेवन, जानें 9 चमत्कारी फायदे Bhindi Khane Ke Fayde

हरी सब्जियों में भिंडी का अपना अलग स्थान है, इसे लेडी फिंगर भी कहा जाता है। इसे okra के नाम से भी जाना जाता है।

भिंडी उन सब्जियों में शामिल की जाती हैं, जो या तो बहुत पसंद की जाती है, या फिर कुछ लोग इसे बिल्कुल भी पसंद नहीं करते।

इसका नाम जरूर लेडी फिंगर है परन्तु ये पुरुषों के लिए वरदान है क्यूंकि इसमें ऐसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो पुरुषों की कामशक्ति को बढ़ाते हैं।

ज्यादा लीची खाते हैं तो हो जाएँ सावधान, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

आइये अब जानते हैं भिंडी के चमत्कारी फायदों के बारे में –

Table of Contents

भिंडी खाने के फायदे | Bhindi Khane Ke Fayde

सुबह भिंडी का सेवन किया जाए तो यह ब्लड शुगर लेवल को ठीक रखता है। यही नहीं ये किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करती है। आइये जानते हैं विस्तार से इसके लाभ –

1. कैंसर में लाभकारी

भिंडी में एंटी-ऑक्सीडेंट्स तत्व पाए जाते हैं जो कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं। US में हुई रिसर्च से ये पता चला है कि भिंडी कोलन कैंसर को ठीक करने में मददगार है। इसमें फाइबर की मात्रा भी भरपूर है जो आँतों में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करती है, जिससे आंतें स्वस्थ रहती हैं और अच्छे ढंग से कार्य करती हैं।

2. ह्रदय को रखे स्वस्थ

इसमें पेक्टिन नामक तत्व पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में हितकर है। साथ ही इसमें फाइबर तो होता ही है, जो खून में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। जिससे हमारा दिल स्वस्थ रहता है और खून के थक्के जमने की समस्या भी नहीं होती।

3. अल्सर के लिए

भिंडी में कई ऐसे तत्व होते हैं जो घाव को भरने में मदद करते हैं। जो लोग मुंह या पेट के अलसर से पीड़ित हैं, उनके लिए भिंडी बहुत ही फायदेमंद है।

4. डायबिटीज पेशेंट के लिए

मधुमेह के रोगियों में इन्सुलिन की मात्रा कम या ज्यादा होती है। भिंडी में यूगेनोल नामक तत्व होता है जो इन्सुलिन की मात्रा के स्तर को नियंत्रित करता है, जिससे डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है।

5. खून की कमी को करे दूर

भिंडी में आयरन की मात्रा भरपूर होती है, जो शरीर में खून की कमी को दूर करने में उपयोगी है। इसके नियमित रूप से सेवन करने से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर अच्छा होता और साथ ही कैल्शियम की कमी को भी दूर करता है।

6. हड्डियों को बनाएं मजबूत

विटामिन k भिंडी में पाया जाता है, जो हड्डियों की मजबूती के लिए आवश्यक है। भिंडी में एक प्रकार का लेसला पदार्थ होता है, जो जॉइंट्स के बीच की नमी को बढ़ाता है, जिससे घुटनों में गैप की समस्या नहीं होती।

7. पाचन क्रिया को करे दुरुस्त

यदि हमारा पाचन तंत्र ही सही ढंग से कार्य न करे तो खाया-पिया भी नहीं लगता। भिंडी में मौजूद फाइबर हमारी पाचन-शक्ति को सुधारता है जिससे बदहजमी, कब्ज़ तथा खट्टे डकार की समस्या खत्म हो जाती है।

8. रोग-प्रतिरोधक क्षमता

रोगों से लड़ने के लिए इम्युनिटी का अच्छा होना बहुत जरूरी है। ये हमने कोरोना जैसी महामारी से सबक लिया है। रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भिंडी काफी मददगार साबित होती है, क्यूंकि इसमें विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट्स अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं, जो रोगों से लड़ने में सहायक माने जाते हैं।

9. आँखों की रोशनी के लिए

भिंडी बीटा-कैरोटीन होता है जो बॉडी में जाकर विटामिन A में बदल जाता है। आप तो जानते ही हैं कि विटामिन A आँखों के लिए बहुत ही उपयोगी है। ये मोतियाबंद जैसी बीमारी को रोकने में भी मदद करती है।

भिंडी में पाए जाने वाले पोषक तत्त्व (प्रति 100 ग्राम, u-माइक्रोग्राम)

Energy – 138 KJ (33 kcal)Vitamins Quantity Minerals Quantity
Carbohydrates – 7.46 g Vitamin A equiv – 36 ugCalcium – 82 mg
Sugar – 1.48 gThiamine (B1) – 0.2 mgIron – 0.62 mg
Dietary Fibre – 3.3 gRiboflavin (B2) – 0.06 mgMagnesium 57 mg
Fat – 0.19 gNiacin (B3) – 1 mgPhosphorous – 61mg
Protein – 1.9 gFolate (B9) – 60 ugPotassium – 299 mg
Water – 89.6 gViatmin C – 23 mgZinc – 0.58 mg
Vitamin E – 0.27 mg
Vitamin K – 31.3 ug

पुरुषों के लिए वरदान है भिंडी का सेवन करना

पुरुषों के लिए भिंडी की जड़ का चूर्ण बहुत ही लाभकारी है।

कामशक्ति को बढ़ाता है

भिंडी की जड़ को सुखाकर पीस लें और प्रतिदिन 10 ग्राम चूर्ण गाय के दूध के साथ सुबह के समय सेवन करें। इससे कामेच्छा में वृद्धि होगी, साथ ही कामशक्ति भी बढ़ेगी।

दुर्बलता होती है दूर

नियमित रूप से भिंडी का सेवन करने से दुर्बल शरीर भी ताकतवर होने लगता है और मर्दाना शक्ति भी बढ़ती है तथा कमजोर पुरुषों का शरीर भी हृष्ट-पुष्ट और तगड़ा हो जाता है।

धात गिरना करे बंद

जिन पुरुषों को धात गिरने की समस्या रहती है उनके भिंडी रामबाण औषधि है। इसके लिए आपको भिंडी के फूलों को पीसना है और छाछ में मिलाकर सुबह के समय पीना है। धात की समस्या जड़ से खत्म हो जायेगी।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न- भिंडी का पानी पीने के क्या फायदे हैं?

उत्तर- रात को सोने से पहले 2 भिंडी काटकर 1 ग्लास पानी में भिगो दें और सुबह इस पानी को पीएं। इसके हमारे शरीर को बहुत लाभ मिलेंगे जैसे –
# इसके सेवन से पूरा दिन शरीर में चुस्ती-फुर्ती रहती है।
# जिन्हें जोड़ों में दर्द रहता है, उनके लिए इस पानी का सेवन बहुत ही उत्तम है
# गले में खराश और फेफड़ों में सूजन होने पर इसका प्रयोग करें

प्रश्न- भिंडी किसको खानी चाहिए और किसको नहीं?

उत्तर- किसे नहीं खानी चाहिए – जिन्हें स्किन प्रॉब्लम है या जिन्हें बलगम वाली खांसी है, वे भिंडी का सेवन न करें।
किसे खानी चाहिए – जिन्हें भूख नहीं लगती, बढ़ते बच्चे और जिम जाने वाले बालक इसका सेवन करे क्यूंकि ताकत प्रदान करती है।

प्रश्न- भिंडी खाने के बाद किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए?

उत्तर- भिंडी के बाद कभी भी करेले का सेवन नहीं करना चाहिए क्यूंकि ऐसा करने से पेट में जहर बन सकता है। साथ ही भिंडी के बाद मूली का सेवन न करें क्यूंकि इससे त्वचा सम्बन्धी रोग उत्त्पन्न होते हैं।

प्रश्न- जंगली भिंडी के क्या फायदे हैं?

उत्तर- विटामिन सी से भरपूर जंगली भिंडी दांतों के लिए काफी अच्छी है, साथ ही जिन्हें हाई BP की समस्या है, उनके लिए भी जंगली भिंडी बहुत ही उपयोगी है।

इन्हें भी पढ़ें –

लीची का सेवन किन्हें नहीं करना चाहिए? और जानिये इसके फायदे

अश्वगंधा का सेवन बहुत ही लाभदायक है चाहे वे पुरुष हो या स्त्री

जानिये शिलाजीत का सेवन करने की सही विधि और कैसे पहचाने कि वो शुद्ध है


Spread the love

2 thoughts on “सेहत के लिए लाजवाब है भिंडी का सेवन, जानें 9 चमत्कारी फायदे | Bhindi Khane Ke Fayde”

  1. Pingback: Tuberculosis: टीबी के लक्षण, कारण और इसका देसी इलाज | TB ke lakshan or Ayurvedic Upchaar - घरेलू नुस्खे - चरक संहिता

  2. Pingback: कमर का मणका खिसकना (Spondylolisthesis) ठीक करें इन आसान घरेलू उपायों से | Spondylolisthesis Home Remedies in Hindi - घरेलू नुस्खे - चरक संह

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *