Sunday, October 2, 2022
Ayurvedic Medicineजानें बबूल गोंद के यौन स्वास्थ्य संबंधी फायदे | Babul Gond Benefits...

जानें बबूल गोंद के यौन स्वास्थ्य संबंधी फायदे | Babul Gond Benefits for Sexual Health in Hindi

- Advertisement -

जानें बबूल गोंद के यौन स्वास्थ्य संबंधी फायदे Babul Gond Benefits for Sexual Health in Hindi

बबूल कई नामो से जाना जाता है जैसे गोंद बबूल और बारबरा। इन दोनों के ही अपनी-अपनी जगह काफी फायदे हैं लेकिन आज हम बात करने गोंद बबूल की जो यौन स्वास्थ्य के सुधार में काफी मददगार है। बबूल की दातुन भी आपके दांतों को मजबूत बनाने के लिए प्रयोग की जाती है और प्लाक जमा होने से भी रोकती है। इसका पेड़ भारत के सूखे इलाकों में पाया जाता है। ऐसा नहीं है इसके सिर्फ यौन संबंधी फायदे हैं, इसके अन्य भी कई फायदे हैं जो हम इस पोस्ट में आगे बताएंगे तो इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Table of Contents

पुरुषों के लिए बबूल गोंद के फायदे (Babul Gond Benefits for Sexual Health in Hindi)

महिलाओं के साथ ही बबूल गोंद पुरुषों के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत उपयोगी है। ये पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को अच्छा करती है जैसे –

वीर्य को करे गाढ़ा

यदि आप नित्य 5 ग्राम तक बबूल गोंद का सेवन करते हैं तो इससे वीर्य गाढ़ा होता है और शीघ्रपतन की समस्या भी नहीं होती। इसके साथ ही यह पेट के लिए भी काफी अच्छी है क्यूंकि जिन पुरुषों को कब्ज़ की वजह से या पेट में गरमी की वजह से यौन संबंधी दिक्क्तें हैं तो उसके लिए भी बबूल गोंद (Babul Gond Benefits for Sexual Health in Hindi) उपयोगी है।

नपुंसकता को दूर करती है

जिन पुरुषों का स्पर्म काउंट निल हो चुका है, उनके लिए भी बबूल गोंद वरदान समान है क्यूंकि इसके सेवन से वीर्य शक्तिशाली बनता है और बढ़ता भी है एवं जिन पुरुषों को इरेक्शन बनाये रखने में दिक्क्त आती है, उनके लिए भी काफी फायदेमंद है।

बबूल गोंद के अन्य फायदे जो आपको अवश्य जानने चाहिए

बबूल गोंद के अन्य स्वास्थ्य संबंधी फायदे भी हैं जो आपको अवश्य जानने चाहिए –

एक्जिमा को ठीक करने में है उपयोगी (Babul Gond Benefits for Skin )

एक्जिमा के इलाज के लिए बबूल को काफी उपयोगी माना गया है। इसके लिए आपको लगभग 25 gm बबूल के पेड़ की छाल और आम की छाल का उपयोग करना है। इन दोनों को 1 लीटर पानी में उबाल लें और इसकी भाप लें एवं प्रभावित हिस्से पर इससे सिकाई करें। सेक करने के बाद देसी घी से मालिश करने पर एक्जिमा ठीक होने लगेगा।

तनाव को करे दूर

बबूल गोंद में एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं जो तनाव को कम करने में उपयोगी होते हैं। आजकल स्ट्रेस हर मनुष्य को है क्यूंकि भागदौड़ भरी जिंदगी में आप दिमाग को आराम देना तो भूल ही जाते हैं और प्रॉपर डाइट का ध्यान भी नहीं रख पाते। इसलिए बबूल गोंद को स्ट्रेस दूर करने के लिए किस प्रकार खाया जाए, विशेषज्ञों से परामर्श अवश्य करें।

कंजक्टिविटिस के उपचार में भी मददगार है

कंजक्टिविटिस एक ऐसी समस्या है जिसमें आँखों में लालिमा आ जाती है। इसका उपचार करने के लिए आपको बबूल की पत्तियों को कूटकर थोड़ा-सा पानी मिलाकर लेप बना लेना है और उसे अपनी आँखों पर लगाना है। इससे लालिमा और दर्द कम होता है।

घावों को जल्दी भरने में है मददगार

बबूल के पत्तों और छाल में रक्तस्त्राव और इन्फेक्शन को नियंत्रित करने की भरपूर क्षमता होती है। घाव को जल्दी भरने के लिए आपको नियमित रूप से बबूल पाउडर छिड़कना होगा।

बालों के लिए है उपयोगी

बालों के झड़ने और समय से पहले सफेद होने की समस्या आजकल हर किसी को हो गयी है। बालों के स्वास्थ्य के लिए बबूल की पत्तियों को उपयोगी माना गया है। इसकी पत्तियों का पेस्ट बनाकर बालों और स्कैल्प पर लगाएं और ३० मिनट तक लगा रहने दें। इसके बाद किसी अच्छी गुणवत्ता वाले आयुर्वेदिक शैम्पू से बालों को धो लें।

दस्त रोकने में बबूल गोंद सहायक है

देखिये दस्त रोकने को लेकर बबूल गोंद का प्रयोग उचित है या नहीं इसकी सलाह तो चिकित्सक ही बेहतर दे पायेगा क्यूंकि कई शोधों में विरोधाभास है। जैसे कुछ शोध कहते हैं कि बबूल गोंद दस्त रोकने में सहायक है लेकिन कुछ शोध कहते हैं कि इससे हल्के दस्त हो सकते हैं।

मधुमेह के रोगियों के लिए भी है फायदेमंद

अध्ययनों के अनुसार बबूल गोंद सीरम ग्लूकोस के स्तर को कम करता है और इसके अलावा बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। कुल मिलाकर यह डायबिटीज के रोगियों के लिए उत्तम है।

बबूल गोंद का उपयोग किस प्रकार करें?

बबूल गोंद का प्रयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। आपको जैसे स्वाद लगे वैसे आप इसका सेवन कर सकते हैं क्यूंकि ये स्वाद में थोड़ा कसैला होता है और इसकी तासीर भी गर्म होती है। इसलिए ठंडी और मीठी चीजों के साथ इसका सेवन करें जैसे –

  • बबूल गोंद को अच्छी तरह भूनकर लड्डू बनाकर खा सकते हैं
  • दही में मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है
  • पानी के साथ भी इसे ले सकते हैं
  • पंजाबी घरों में पंजीरी बहुत बनती है और वे लोग पंजीरी में भी इसे मिलाते हैं

बबूल गोंद के नुकसान क्या हैं? (Side Effect of Babul Gond in Hindi)

बबूल गोंद के फायदे तो हैं लेकिन साथ ही नुकसान भी हैं। आपको इसके प्रयोग से पहले निम्नलिखित बातें अवश्य पता होनी चाहिए –

  • तासीर गर्म होने की वजह से डायरिया की समस्या हो सकती है
  • मुंह में झनझनाहट भी हो सकती है
  • सुबह-सुबह घबराहट महसूस कर सकते हैं
  • ब्लोटिंग की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है
अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – क्या बबूल गोंद को भोजन के पहले या बाद में खा सकते हैं?

उत्तर – जी हाँ, इसे भोजन के उपरान्त खाया जा सकता है और कुछ स्थितियों में पहले भी खाया जा सकता है।

प्रश्न – क्या बबूल गोंद के ओवर डोस से साइड इफ़ेक्ट होता है?

उत्तर – जी हाँ, अधिक मात्रा में बबूल गोंद का सेवन करने से साइड इफ़ेक्ट होता है। इससे आपको दस्त और जी मचलाने की समस्या हो सकती है। इसलिए इसे सीमित मात्रा में ही खाएं।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article