Sunday, December 4, 2022
Beautyये 9 घरेलू उपाय करेंगे बालतोड़ का सफल इलाज | Baal Tod...

ये 9 घरेलू उपाय करेंगे बालतोड़ का सफल इलाज | Baal Tod Treatment at Home in Hindi

- Advertisement -

ये 7 घरेलू उपाय करेंगे बालतोड़ का सफल इलाज Baal Tod Treatment at Home in Hindi

बालतोड़ जिसे इंग्लिश में boil कहा जाता है। ये भी एक फोड़े-फुंसी की तरह ही होता है परन्तु ये बाल के जड़ से टूटने पर होता है। ये अत्यंत पीड़ादायक होता है। शरीर के किसी भी हिस्से का बाल यदि जड़ से टूटे तो ये समस्या उत्पन्न होती है। ज्यादातर ये जननांगों, हाथों, कंधों और पैरों पर होता है। ये आम घाव से अलग होता है, पहले इसमें फोड़ा-फुंसी होती है और कुछ समय बाद सफेद रंग का मवाद भी जमने लगता है। बालतोड़ की समस्या को घरेलू उपचारों (Baal Tod Treatment at Home in Hindi) द्वारा आसानी से ठीक किया जा सकता है। लेकिन पहले जानते हैं बालतोड़ के प्रकार और इसके लक्षण।

बवासीर से तुरंत राहत दिलाने वाले गजब के घरेलू नुस्खे जानने के लिए लिंक पर क्लिक करें

बालतोड़ कितने प्रकार के होते हैं?

बालतोड़ सामन्य तौर पर तीन तरह के होते हैं –

बालतोड़ के प्रकार व्याख्या
नासूर आपकी त्वचा पर कई रोम छिद्र होते हैं, यदि वहां पर कहीं से कोई बाल जड़ से टूट जाए तो नासूर बन जाता है। संक्रमित होने पर वहां गाँठ सी बन जाती है और बाद में मवाद निकलने लगता है
पुटीय मुंहासे यह sebaceous glands के बंद होने के कारण होता है। यह त्वचा की गहराई के टिश्यू को प्रभावित करता है, जिस कारण सूजन हो जाती है।
हिड्राडेनाइटिस सुप्पुराटिवा यह ज्यादातर बगल और जांघों पर होता हैं क्यूंकि इस रीजन में रगड़ ज्यादा लगती है। इसके कारण फोड़ा हो जाता है और बाद में गाँठ भी बन जाती है। इसमें असहनीय दर्द होता है।
पायलोनिडल सिस्ट यह अधिकतर नितम्बों पर होता है क्यूंकि उठने बैठने से बाल टूट जाता है और फोड़ा हो जाता है। इस स्थिति में बैठने में काफी दिक्क्त होती है।
आँख की गुहेरी यह पलक के आस-पास होती है। यह बिना किसी संक्रमण के ही हो जाती है।

बालतोड़ के लक्षण

बालतोड़ होने पर असहनीय दर्द होने के साथ साथ अन्य कई लक्षण भी देखने को मिलते हैं। आइये जानते हैं –

बालतोड़ के लक्षण

बालतोड़ के घरेलू उपाय (Baal Tod Treatment at Home in Hindi)

कुछ सरल और चमत्कारी उपाय जिनके द्वारा आप घर पर ही बालतोड़ का इलाज कर सकते हो। आइये जानते हैं –

पत्थरचट्टा का पत्ता घाव और सूजन को दूर करने के लिए बहुत उपयोगी है। बालतोड़ को ठीक करने में आप इसके पत्ते को तवे पर गर्म करें और इसके बाद एक चुटकी लौंग का चूर्ण डालकर संक्रमित स्थान पर किसी कपड़े की सहायता से बांधें। रात को बांधकर सो जाएँ और सुबह खोल दें। एक ही बार के प्रयोग से अत्यंत लाभ मिलेगा। 
हरी मेहँदी पीसी हुई जो हाथों में लगाई जाती है, उसे रातभर भिगोकर रख दें और सुबह संक्रमित स्थान पर लगाएं। इसका लेप थोड़ा गाढ़ा करें ताकि अच्छे से अपना असर दिखा सके। इस प्रयोग से बालतोड़ ठीक हो जाता है। 
जौ का सत्तू, मुलहठी चूर्ण, घी और चीनी एकसाथ अच्छी तरह मिलाकर बालतोड़ वाले स्थान पर लेप करना चाहिए। इससे सूजन और लालिमा में जल्दी आराम आ जाता है। 
हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और ये बालतोड़ की वजह से हुए घाव, लालिमा और दर्द को कम करता है। इसका प्रयोग तिल का चूर्ण, हल्दी, मुलहठी और निंबपत्र - इन सबको बराबर पीसकर और इसमें घी मिलाकर गाढ़ा लेप बना लें और इसे संक्रमित स्थान पर लगाएं। 
देसी गाय का दूध (50 ml) को आधा चम्मच फिटकरी का चूर्ण डालकर फाड़ दें। इससे छेना अलग हो जायेगा और पानी अलग। इस छेने को किसी सूती कपड़े में डालकर फोड़े पर रखें और ऊपर से कपड़ा बाँध लें और रातभर कपड़ा बंधा रहने दें। सुबह चमत्कार देखेंगे कि फोड़े में से सारा मवाद बाहर निकल गया है और फोड़ा गायब हो गया है। 
गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर सूती कपड़े की सहायता से घाव पर धीरे-धीरे दबाइये। इससे बालतोड़ की वजह से जो त्वचा में कसावट आ गयी है, वह कम होगी और साथ ही दर्द भी कम होगा एवं जो मवाद है वह भी बाहर निकलने लगेगा। 
लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। बैक्टीरिया के कारण होने वाले नासूर को लहसुन द्वारा ठीक किया जा सकता है। लहसुन की कलियों को कूटकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को संक्रमित स्थान पर लगाएं। इसके साथ ही आप 2 लहसुन की कलियाँ सुबह पानी से साथ सेवन करें। इन दोनों उपायों को करने से बालतोड़ जल्दी ठीक होगा। 
ममीरे की पत्तियों को पानी में उबालकर उस पानी को गुनगुना होने के लिए रख दें। फिर उस पानी से अपने बालतोड़ वाले स्थान को धोयें। कुछ ही दिनों के प्रयोग से बालतोड़ ठीक होने लगेगा। 
नागदोन के पत्ते को गर्म करके और उसपर तिल का तेल लगाकर संक्रमित स्थान पर किसी कपड़े से बांधें। इससे सूजन और दर्द में तो आराम मिलेगा ही और साथ ही फोड़ा भी बैठ जाएगा। 

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – बालतोड़ बार-बार क्यों होता है?

उत्तर – बालतोड़ जब किसी शरीर के हिस्से का बाल जड़ से टूट जाए तो बालतोड़ की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसका समय रहते उपचार कर लेना चाहिए नहीं तो यह बड़े जख्म का रूप ले लेता है। सही तरीके से उपचार न होने की वजह से यह बार-बार होता है।

प्रश्न – फोड़े को पकाने का घरेलू उपाय क्या है?

उत्तर – नीम की पत्तियों को कूटकर जो उसका गूदा बनता है, उसे अपने फोड़े वाले स्थान पर लगाइये। इससे फोड़ा पक जाता है। इसके अलावा प्याज और हल्दी का प्रयोग भी किया जा सकता है।

प्रश्न – फोड़े से मवाद कैसे निकाले?

उत्तर – गर्म पानी सिकाई करके फोड़े को थोड़ा नर्म कर लें, फिर उसके बाद फोड़े के आस-पास वाली जगह पर दबाव डालें। आप देखेंगे कि मवाद निकलने लगेगा।

इन्हें भी पढ़ें –

भगन्दर को जड़ से खत्म करने का जबर्दस्त आयुर्वेदिक उपचार

त्वचा पर छपाकि होने के कारण, लक्षण और देसी इलाज

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article