Sunday, October 2, 2022
Ayurvedic Medicineअलसी के फायदे और नुकसान | Alsi Seeds Benefits in Hindi

अलसी के फायदे और नुकसान | Alsi Seeds Benefits in Hindi

- Advertisement -

Alsi Seeds Benefits in Hindi अलसी के फायदे और नुकसान

दिल की बीमारी से लेकर वजन घटाने तक और महिलाओं में पीरियड्स संबंधी दिक्कतों को दूर करने के लिए अलसी के बीजों को बहुत ही उपयोगी माना गया है। आयुर्वेद में अलसी के बीज को औषधि के रूप में देखा जाता है। अलसी को सुपरफूड भी कहा जाता है क्यूंकि इसमें मानव शरीर को स्वस्थ रखने के सभी गुण मौजूद हैं। आज आपको हम इसके फायदे (Alsi Seeds Benefits in Hindi) नुकसान दोनों के बारे में बताएंगे और साथ ही ये भी बताएंगे कि इसका सेवन कैसे करना चाहिए?

अलसी के बीज के फायदे (Alsi Seeds Benefits in Hindi)

अब जानते हैं अलसी के फायदे –

अलसी के फायदे बालों के लिए

बालों की सभी समस्याओं को दूर करने के लिए अलसी रामबाण है। चाहे बाल दोमुंहें हों, अधिक झड़ते हों या सफेद होने की समस्या हो क्यूंकि इसमें विटामिन इ और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स प्रचुर मात्रा में मौजूद हैं।

त्वचा के लिए अलसी के फायदे

अलसी में पाया जाने वाला विटामिन इ आपकी त्वचा को निखारने के लिए बहुत ही फायदेमंद है। आप अलसी के बीजों का तेल त्वचा पर लगाएं, इससे त्वचा में नमी बनी रहेगी और साथ ही यह तेल डार्क सर्कल्स और मृत कोशिकाओं को हटाने में उपयोगी है।

रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये

अलसी के बीज में लिगनैंस मौजूद होता है जो कि एक प्रकार का एंटी-ऑक्सीडेंट है। अलसी के बीज में 800 गुना ज्यादा लिगनैंस होता है जो किसी भी प्लांट फ़ूड के अपेक्षा बहुत अधिक है। इसी वजह से ये आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने में भी फायदेमंद है।

पाचन शक्ति के लाभकारी है अलसी

अलसी में घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर मौजूद होते हैं जो पाचन तंत्र को मजबूत करके पाचन शक्ति को बढ़ाते हैं और साथ ही आपकी बॉडी में होर्मोन्स को बैलेंस करते हैं। अलसी के बीज खाने के बाद पेट में फूल जाते हैं जिस वजह से पेट अधिक समय तक भरा रहता है और यही कारण है कि ये वजन घटाने में भी लाभप्रद है।

कैंसर से बचाव में भी उत्तम है अलसी

अभी हाल ही हुई स्टडीज़ में ये पाया गया है कि अलसी प्रोस्टेट कैंसर, ब्रैस्ट कैंसर और कोलन कैंसर से बचाव करने में उपयोगी है। इसमें कुछ ऐसे कंपाउंड्स हैं जैसे ओमेगा-3 जो ट्यूमर सेल्स की ग्रोथ को बढ़ने से रोकते हैं और साथ ही लिगनैंस भी मदद करते हैं एन्ज़इम्स को अवरुद्ध करने में।

अलसी हाई बीपी को नियंत्रित करने में है उपयोगी

एक बड़े पैमाने पर अध्ययन करने के दौरान ये पाया गया है कि नित्य 1-2 चम्मच अलसी का सेवन 6 महीने तक करने से हाई बीपी की समस्या को नियंत्रित किया जा सकता है। जिससे हृदय रोग और किसी प्रकार के स्ट्रोक का खतरा 10 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में उपयोगी है अलसी

अलसी में मौजूद प्रोटीन arginine, aspartic acid और glutamic acid से भरपूर होता है जो आपके बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद है और साथ ही किसी भी प्रकार के फंगल इन्फेक्शन से बचाने में भी उपयोगी हैं।

महिलाओं के लिए अलसी के फायदे

  • महिलाओं में होने वाली pcod की समस्या दूर होती है
  • स्तन कैंसर का खतरा कम होता है
  • अलसी के बीजों में एस्ट्रोजेन पाया जाता है जो महिलाओं के होर्मोनेस को बैलेंस करने में मददगार है
  • मासिक धर्म के दौरान होने वाले तनाव, मूड का बदलना आदि को कम करता है
  • जिन महिअलों की नियमित पीरियड्स नहीं आते या दर्द भरे पीरियड्स आते हैं तो उसमें भी अलसी के बीज उपयोगी हैं
  • मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्तस्त्राव को रोकने में भी अलसी फायदेमंद है।

पुरुषों के लिए अलसी के फायदे

  • आजकल पुरुषों में बाल झड़ने की समस्या बहुत ज्यादा हो गयी है, अलसी का सेवन करने से लाभ होगा
  • जिन पुरुषों में स्पर्म काउंट कम है, उन्हें भी अलसी का सेवन अवश्य करना चाहिए
  • अलसी पौरुष ग्रंथि में होने वाले कैंसर से बचाती है
  • अलसी पुरुषों की शारीरिक दुर्बलता को दूर करती है
  • सम्भोग के दौरान जो पुरुष जल्दी स्खलित हो जाते हैं, उनके लिए अलसी वरदान है
  • पेशाब संबंधी दिक्कतों को दूर करने में उपयोगी है

अलसी खाने के नुकसान

अलसी की तासीर गर्म होती है। इसलिए इसका सेवन सर्दियों में करना चाहिए और यदि गर्मियों में कर रहे हैं तो पानी ज्यादा पीएं। आइये जानते हैं इसके कुछ नुकसान –

  • गर्भवती महिलाएं अलसी का सेवन न करें क्यूंकि इसमें एस्ट्रोजेन जैसे गुण होते हैं जिससे पीरियड्स हो सकते हैं
  • अलसी के बीजों को कभी सीधे चबाकर न खाएं, इससे पेट फूलना और किडनी एवं लिवर के रोग हो सकते हैं
  • बिना भूने खाने से इसके टॉक्सिन्स नष्ट नहीं होते जिस वजह बाल झड़ना, आँखों का कमजोर होना और अन्य त्वचा संबंधी रोग हो जाते हैं
  • गर्मियों में ज्यादा सेवन से कब्ज़ की समस्या हो सकती है क्यूंकि ये पानी को सोखती है

अलसी को कैसे खाएं और कितनी मात्रा में खाएं

अलसी का सेवन करने से पहले उसे अच्छी तरह भून लें और ब्लेंडर में पीसकर चूर्ण कर लें। इससे पहले अलसी खरीदने से पहले ये ध्यान दें कि अलसी आर्गेनिक हो। भुनने से इसके सारे विषैले तत्व समाप्त हो जाएंगे। फिर जो इसका चूर्ण बना है, उसे आप दूध में, दही में या सलाद में डालकर सेवन कर सकते हो।

अलसी की मात्रा – गर्मियों के मौसम में अलसी का सेवन न ही करें तो बेहतर। यदि करना चाहते हैं तो 1/4 से 1/2 चम्मच तक ही सेवन करें और साथ में पानी खूब पीएं। सर्दियों में एक चम्मच ले सकते हैं।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – क्या अलसी गर्म होती है?

उत्तर – जी हाँ, अलसी की तासीर गर्म होती है।

प्रश्न – अलसी में कौन-कौन से तत्व होते हैं?

उत्तर – ओमेगा-3, प्रोटीन, विटामिन्स, कैल्शियम, मैग्नीशियम, ल्यूटिन, फोलेट, पोटैशियम, मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं जो आपके शरीर को तंदरुस्त बनाने के साथ ही दिमाग को भी मजबूती प्रदान करते हैं।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article