Sunday, October 2, 2022
Body Healthबार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय, क्या ये किसी गंभीर बीमारी का...

बार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय, क्या ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत तो नहीं?

- Advertisement -

बार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय, क्या ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत तो नहीं?

बार-बार प्यास लगने की समस्या अक्सर गर्मियों की शुरुआत में होती है और ये प्राकृतिक है। लेकिन यदि पानी पीने के बाद फिर थोड़ी देर बाद मुंह सूखने लगता है और पेटभर पानी पीने के बाद भी प्यास नहीं बुझ रही है तो आपको इसकी ओर ध्यान देने की जरूरत है।

कुछ लोगों के शरीर में पित्त की अधिकता हो जाती है, जिस कारण पानी की अधिक प्यास लगती है। कई व्यक्तियों को ज्यादा पानी पीने से हाथ-पैर सुन्न होने की समस्या भी होने लगती है और पेशाब भी अधिक मात्रा में आने लगता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए हम आपको बार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय बताते हैं, जो सही मायने में कारगर हैं।

बार-बार प्यास क्यों लगती है

बार-बार प्यास लगने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आइये जानते हैं –

स. कारण
1 शरीर में पित्त के बढ़ने से
2 घबराहट, चिंता और बेचैनी से
3 शरीर में धातुओं की कमी से
4 हाई बीपी की समस्या से
5 गर्मियों में चाय ज्यादा पीने से
6 डायबिटीज रोग के कारण
7 दस्त और उल्टी आने की वजह से

बार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय

निम्नलिखित घरेलू उपायों को अपनाने से आप बार-बार प्यास लगने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं –

पुदीना और हरा धनिया

पुदीना और हरा धनिया दोनों में ही पित्त को शांत करने वाले गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही इन दोनों की चटनी खाने से भूख भी बढ़ती है। अधिक प्यास लगने की समस्या को दूर करने के लिए इसके साथ आंवले का प्रयोग करना चाहिए।

प्रयोग का तरीका – पुदीना, हरा धनिया और आंवला – प्रत्येक 10 gm लें और इन्हें अच्छे से पीसकर चटनी बना लें। फिर इस पेस्ट को एक गिलास पानी में घोल दें और इसके स्वाद को बढ़ाने के लिए इसमें धागे वाली मिश्री मिला दें और फिर इसे सिप-सिप करके पीएं। इसके इस्तेमाल बार-बार प्यास लगने की समस्या से पूर्णतया छुटकारा मिल जाएगा।

सौंफ का पानी

एक गिलास पानी में 25 gm सौंफ मिलाकर 1 घंटे के लिए रख दें। एक घंटे बाद इस पानी को छान लें और पी लें। इस पानी के सेवन से बार-बार प्यास लगने की समस्या तो ठीक होगी ही बल्कि साथ-साथ पेशाब का रुक-रुक आना, बुखार के समय मुंह सूखना जैसी दिक्क्तें भी सही होंगी।

सूखे आंवले और गिलोय

आंवले को सुपर फ़ूड भी कहा जाता है क्यूंकि इसमें सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होने से ये इम्युनिटी बूस्टर भी है। बेचैनी, पित्त के बढ़ने से यदि प्यास की अधिकता है तो उसमें आंवले का प्रयोग उत्तम है। इसके साथ ही गिलोय के फायदे तो कोरोना काल में सभी ने देखे ही है। आयुर्वेद में इसे मह्त्वपूर्ण स्थान दिया है। डायबिटीज आदि रोगों को ठीक करने में भी इसका प्रयोग किया जाता है।

प्रयोग की विधि – सूखे आंवले, गिलोय, शीतल चीनी और सफेद चंदन – प्रत्येक 50 gm – इन्हें पीसकर चूर्ण कर लें और किसी शीशी में सुरक्षित बंद करके रख दें। एक-एक चम्मच सुबह-शाम गुनगुने पानी से सेवन करने से अधिक प्यास लगने की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

गन्ने का रस

गन्ने के रस में अदरक और पुदीने का रस मिलाएं और इसे पीने में कम से कम 15 मिनट तो अवश्य लगाएं। आप देखेंगे कि अधिक प्यास लगने की समस्या पहली बार पीने के बाद से ही कम होने लगेगी। इसे 7 दिन तक दिन में दो बार अवश्य पीएं।

परहेज – चाय, कॉफी और अधिक मिर्च-मसाले वाली चीजें न खाएं।

काली मिर्च

काली मिर्च के चूर्ण को 4 कप पानी में अच्छे से उबालकर छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें। फिर इसका सेवन दिन में 2-3 बार अवश्य करें। इससे भी अधिक प्यास लगने की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

अधिक प्यास लगने पर खान-पान में क्या बदलाव करने चाहिए

अपने भोजन और दिनचर्या में कुछ सामान्य बदलाव लाकर आप अधिक प्यास लगने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं –

  • मिर्च-मसाले और गरिष्ठ भोजन का सेवन कम करें
  • जंक फूड से परहेज करें
  • ज्यादा गर्मी में अधिक व्यायाम न करें
  • सुबह उठते ही 1 गिलास पानी अवश्य पीएं
  • फलों का रस और फलों का सेवन जरूर करें
  • पेट को साफ़ रखें, कब्ज़ न होने दें
  • शराब का सेवन और धूम्रपान न करें
  • रात के समय भोजन कम मात्रा में करें
  • मक्खन जरूर खाएं
  • ज्यादा ठंडा पानी भूलकर भी न पीएं

निष्कर्ष

ऊपर बार-बार प्यास लगने का घरेलू उपाय में से कोई एक उपाय ही अपनाएँ, आपको निश्चित ही लाभ होगा। यदि किसी कारणवश लाभ नहीं मिला तो तुरंत किसी चिकित्सक को दिखाएं। हो सकता है फिर ये किसी गंभीर बीमारी की वजह से हो रहा हो।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न – क्या ज्यादा प्यास लगना किसी बीमारी का संकेत है?

उत्तर – ऐसा हमेशा नहीं होता लेकिन डायबिटीज में जब शरीर से ग्लूकोज़ पेशाब के जरिये बाहर निकलने लगता है तो उस समय प्यास ज्यादा लगती है।

प्रश्न – यदि बार-बार प्यास लगे तो क्या करें?

उत्तर – इसके लिए आप लौंग को मुंह में रखकर चूस सकते हैं या फलों का रस पी सकते हैं। इसके अलावा सौंफ भी चबा सकते हैं। ध्यान रहे कि बार-बार पानी न पियें, इससे पेट फूलने की समस्या हो सकती है।

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article