Saturday, May 28, 2022
Beautyखाज और खुजली (Ringworm) दाद को जड़ से मिटाने के उपाय |...

खाज और खुजली (Ringworm) दाद को जड़ से मिटाने के उपाय | Ringworm Treatment At Home in Hindi

- Advertisement -

खाज और खुजली (Ringworm)दाद को जड़ से मिटाने के उपाय Ringworm Treatment At Home in Hindi

दाद, खाज और खुजली फंगल इन्फेक्शन के अंतर्गत आने वाले रोग ही हैं। ये शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकते हैं। जहाँ ये होती है वहां रिंग की शेप बनती है, इसलिए इसे ringworm भी कहा जाता है। गर्मियों के दिनों में ये समस्या अधिक बढ़ जाती है। समय पर यदि इसका इलाज नहीं किया जाए तो यह एक्जिमा का रूप ले लेती है। यह किसी संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में या उसकी प्रयोग की हुई चीजों द्वारा हो सकता है।

क्या आप जानते हैं कि दाद के कारण क्या हैं? इसके लक्षण क्या हैं? और किन घरेलू उपायों के द्वारा इसका इलाज संभव है? आगे हम सारी जानकारी डीटेल में बताएंगे तो कृपया करके इस लेख को पूरा पड़ें।

कमर का मनका खिसक गया है तो घबराएं नहीं ये उपाय अपनाएं

आखिर दाद है क्या?

दाद एक त्वचा सम्बन्धी रोग है जो खून के खराबी के कारण अथवा साफ़-सफाई न रखने के कारण होता है। ज्यादा मीठा या अधिक मात्रा में नमक के सेवन से भी ये रोग होता है .इससे त्वचा के ऊपर लाल चतक्के बन जाते हैं और खुजली एवं जलन होती है। ज्यादा बढ़ने पर त्वचा के गंभीर होने का खतरा बन जाता है।

दाद होने के कारण

दाद होने के बहुत से कारण हो सकते हैं। आइये कुछ कारणों से आपको अवगत कराते हैं –

  • ज्यादा पानी में काम करने से जैसे खेतों आदि में
  • दाद संक्रमित व्यक्ति की चीजें प्रयोग करने से
  • खून की खराबी के कारण
  • पसीना ज्यादा आने की वजह से
  • साफ़-सफाई की कमी के कारण

(Ringworm)दाद को जड़ से मिटाने के उपाय

1. गाय का घी

10 काली मिर्च का चूर्ण, गाय का घी 10 ग्राम दोनों साथ लेने से सभी प्रकार की खुजली दाद व अन्य चर्म रोग 8 दिन में ठीक हो जाते हैं।

2. नीम की कोंपलें

किसी लोहे की कढ़ाही में 1 पाव सरसों का तेल डालकर आग पर रख दें। जब गर्म होकर उबलने लगे, तो इसमें 50 ग्राम नीम की कोमल कोंपलें डाल दें। कोंपलों के काले पड़ते ही कढ़ाही को आग से उतार लें। ठंडा होने पर तेल छानकर बोतल में भर लें। इसे दिन में 3-4 बार दाद पर लगाएं। कुछ ही दिनों में दाद नष्ट हो जाएगा।

3. नारियल का तेल

20 ग्राम नारियल के तेल में 5 ग्राम देसी कपूर मिलाकर घोलें। कपूर के तेल में घुल जाने के बाद इसे लगाने से खुजली ठीक हो जाती है। इसी तेल को रात को सोते समय दाद पर लगाएं। कुछ ही दिनों में दाद ठीक हो जाएगा।

4. तुलसी की पत्तियों का रस

तुलसी में रक्त शुद्ध करने वाले गुण मौजूद होते हैं और ये किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन को दूर करने में बहुत फायदेमंद है। 10-12 तुलसी की पत्तियों का रस, 5-7 टुकड़े कपूर को क्रश करें और 2 चम्मच एलोवेरा जेल को अच्छे से मिक्स कर लें। इस मिश्रण को दाद पर लगाएं। पुराने से पुराना दाद भी ठीक हो जाएगा।

5. लहसुन

खून में अशुद्धि के कारण यदि दाद या खुजली है तो लहसुन उसके के लिए बहुत ही कारगर है। क्यूंकि इसमें एंटी-फंगल गुण मौजूद होते हैं जो त्वचा सम्बन्धी रोगों को दूर करने में सहायक है। लहसुन को मैश करके पेस्ट बना लें और उस पेस्ट को दाद वाले स्थान पर लगाएं। कुछ देर बाद जब वह सूख जाए तो ताजे पानी से धो लें। कुछ ही दिनों में दाद ठीक हो जायेगा।

आयुर्वेदिक लेप जो दाद को जड़ से खत्म करेंगे

1. हल्दी, नीम और अश्वगंधा

कूठ (एक पौधे की जड़), हल्दी, दारुहरिद्रा, सुरसा, पटोल, नीम, अश्वगंधा, सुरदारु, सर्षप, तुंबरू, धनिया, वन्य(केवटी) तथा चण्डा – इन सबको समान भाग लेकर चूर्ण कर लें। फिर चूर्ण को मट्ठे के साथ घोट लें।

तत्पश्चात रोगी के शरीर पर को उबटन की तरह दाद पर लगाएं। इसका प्रयोग करने से खुजली, फोड़ा-फुंसी, लाल चक्कते प्रकार के कुष्ठ रोग शांत हो जाते हैं।

2. सरसों का तेल, मैनसिल

मैनसिल, पिण्डहरिताल, काली मिर्च, सरसों का तेल, मदार का दूध इन सभी को एक साथ घोंटकर लेप बना लें। फिर इस लेप को अपने दाद वाले स्थान पर लगाएं। कुछ ही दिनों में दाद खत्म हो जाएगा।

3. चमेली की कोमल पत्तियां

चमेली की कोमल पत्तियां, हल्दी, करंज के बीज, कनेर के मूल की छाल और उसके फल की मींगी तथा तिलक्षार – इन्हें समभाग लेकर गोमूत्र के साथ पीसकर दाद पर लेप करना चाहिए। 1 हफ्ते में ही फर्क दिखेगा।

प्रश्न- दाद होने पर खाने में क्या परहेज करें?

दाद होने पर साफ़-सफाई का ध्यान रखने के साथ भोजन में कुछ प्रतिबंध लगाएं। जैसे अधिक मिर्च-मसाले वाला भोजन, जंक फ़ूड और खट्टे पदार्थों का सेवन करना बंद कर दें।

प्रश्न- खुजली में कौनसा साबुन लगाना चाहिए?

खुजली हो तो घरेलू उबटन का इस्तेमाल करें या तो फिर किसी एंटी-बैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल करें। इस बात का भी ध्यान रखें कि संक्रमित व्यक्ति का साबुन को दूसरा न लगाए।

प्रश्न- क्या खाने से खुजली ज्यादा बढ़ती है?

वैसे तो दाद, खुजली किसी संक्रमित व्यक्ति जिसे पहले ये रोग है उसके सम्पर्क में आने से होती है या उसके द्वारा प्रयोग की हुई वस्तु का उपयोग करने से होती है। साफ़-सफाई का ध्यान न रखने से और ज्यादा मीठा और मिर्च-मसाले वाला भोजन करने से भी खुजली की समस्या अधिक होती है।

इन्हें भी पढ़ें –

उम्र से पहले इंसान को बूढ़ा बना देती हैं ये आदतें, जल्दी से जल्दी छोड़ें

ये रूटीन को फॉलो करने बाद आप अपने बालों की ग्रोथ देखकर हैरान हो जाओगे

डार्क अंडरआर्म्स होंगी अब लाइट, बस करें प्रयोग इन प्रभावशाली तरीकों का

- Advertisement -

Exclusive content

Latest article

More article